ध्यान नहीं कैंपेन कर रहे पीएम मोदी, भाजपा की इकाई के तौर पर काम कर रहा चुनाव आयोग : कांग्रेस

0
13

नई दिल्ली, 31 मई (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन की ध्यान साधना के लिए कन्याकुमारी रॉक मेमोरियल गए हुए हैं। इसे लेकर विपक्ष हमलावर है। कांग्रेस पार्टी ने चुनाव आयोग से प्रधानमंत्री के मेडिटेशन को टीवी पर नहीं दिखाने की मांग की है। ध्यान साधना में लीन पीएम मोदी की तस्वीर सामने आने के बाद कांग्रेस पार्टी ने हमला बोला है।

कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा कि मीडिया निष्पक्ष नहीं है। सरकार के नियंत्रण में मीडिया काम कर रही है। मोदी जी ध्यान नहीं कैंपेन कर रहे हैं। ध्यान के लिए अकेलापन चाहिए, लेकिन मोदी जी कैमरा लेकर ध्यान कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग भाजपा की इकाई के तौर पर काम कर रही है। चुनाव आयोग से इसके प्रसारण पर रोक लगाने कि मांग कि गई थी, लेकिन चुनाव आयोग ने कोई संज्ञान नहीं लिया। संविधान बचाने के लिए हमने चुनाव लडा है, हमें उम्मीद है कि देश की जनता हम लोगों का साथ देगी। चार जून तक हमें इंतजार करना होगा।

पीएम मोदी की ओर से कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को भ्रष्ट बताये जाने पर उदित राज ने कहा कि सारे भ्रष्टाचारी आज मोदी जी के साथ हैं, जिस पर उन्होंने भ्रष्टाचार का आरोप लगाया, उसको भाजपा में शामिल करा लिया गया। शरत रेड्डी, प्रफुल्ल पटेल, छगन भुजबल आदि पर भ्रष्टाचार का आरोप था, आज ये सारे भाजपा के साथ हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी ने खुद कहा था कि एनसीपी पर 70 हजार करोड़ के घोटाले का आरोप है और एनसीपी के नेता अजीत पवार को अपनेे गठबंधन में शामिल कर लिया। ये जिसपर आरोप लगाते हैं, उसको बाद में अपनी पार्टी में शामिल करा लेते हैं। आज सबसे ज्यादा भ्रष्टाचारी पार्टी भाजपा है और मोदी जी सबसे बड़े भ्रष्टाचारी हैं।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की ओर से ब्रिटेन में जमा 100 टन से अधिक सोना भारत लाये जाने को लेकर उदित राज ने कहा कि अगर महंगाई पर नियंत्रण न हो, ब्लैक मनी नहीं रुकती, डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूत न हो, तो इसका क्या मतलब। जब तक डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूत न हो, तो इसका क्या मतलब। जब तक महंगाई पर नियंत्रण न हो, रोजगार न मिले, तो इसका क्या मतलब है।

भाजपा के 400 पार के दावे पर उन्होंने कहा कि अगर ईवीएम से कोई छेड़छाड़ नहीं हुई, तो इंडिया गठबंधन की सरकार तय है। मेरा मानना है कि अगर बेईमानी नहीं की गई, तो इंडिया गठबंधन की सरकार बनेगी। अभी भी प्रधानमंत्री कैंपेन कर रहे हैं और आचार संहिता का उलंघन कर रहे हैं। टीवी पर मेडिटेशन का प्रसारण किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि आपने देखा है कि किस प्रकार इलेक्शन कमीशन ने वोटिंग परसेंटेज को जारी करने में देरी किया है। बाद में आंकड़े को बढ़ाकर जारी किया गया है। भाजपा के चुनावी कैंपेन में कोई दिखाई नहीं दिया। भीड़ पैसे देकर जुटाई जा रही थी। इनके कार्यकर्ता, इनसे नाराज हैं, क्योंकि 10 साल में उनको कुछ मिला नहीं। भाजपा को इस बार 100 से 150 सीट आएगी। वहीं इंडिया गठबंधन को 300 से अधिक सीटें मिलेंगी।