नरेंद्र मोदी को तीसरी बार पीएम बनाना है, इसमें एक बड़ा रोल सोशल मीडिया का भी होगा : भाजपा

0
7

नई दिल्ली, 5 मई (आईएएनएस)। तमिलनाडु के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने रविवार को दिल्ली मेें पार्टी के लगभग 1,000 से अधिक सोशल मीडिया वालंटियर्स के साथ चर्चा की कि कैसे चुनावों में सोशल मीडिया का प्रयोग करना है।

कार्यक्रम में दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि जब भी हम सोशल मीडिया की बात करते हैं तो उसमें सबसे पहली बात आती है कंटेंट और उसे अपने लिए चलाना सबसे बड़ी चुनौती है, क्योंकि यह दो-धारी तलवार है। आज से 30 साल पहले सोशल मीडिया कहां था, जबकि पहले भी चुनाव होते थे। पहले भी हम अपनी बातों को लोगों तक पहुंचाते थे। लेकिन, आज सोशल मीडिया एक बड़ा रोल प्ले कर रहा है। उसको कैसे और किस दिशा में चलाना है, यह आप सब बेहतर जानते हैं।

उन्होंने कहा कि आज हम इकट्ठा हुए हैं, उसका एक ही मकसद है कि देश में तीसरी बार नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है। उसमें एक बड़ा रोल सोशल मीडिया का भी होगा। पीएम मोदी के नेतृत्व में पिछले 10 सालों में जो काम हुए हैं और उसे जन-जन तक पहुंचाने में सोशल मीडिया के योगदान को सोचने के लिए हम इकट्ठा हुए हैं। अगर हमें विकसित भारत, समृद्ध भारत देखना है तो उसमें हम सब को अभी से आहूति डालनी होगी। यह मतभेद, मनभेद और आपसी भेदों से दूर सिर्फ एक उद्देश्य के लिए होगा और वह उद्देश्य है कि नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनना।

सचदेवा ने कहा कि अन्नामलाई ऐसे शख्स हैं जो इस बार बंजर जमीन पर कमल खिलाने जा रहे हैं। दिल्ली के बारे में कहा जाता है कि यह सबसे मजबूत संगठन है तो हम सातों सीटों पर जीत दर्ज करेंगे। इसका हमें आज से ही संकल्प लेकर आगे बढ़ना होगा।

अन्नामलाई ने कहा कि भाजपा हमेशा से सत्य पर विश्‍वास करती है नैरेटिव पर नहीं, इसलिए जितना सच हो सके, उसे हमें सोशल मीडिया से लोगों तक पहुंचाना है। जो लोग देश का विकास नहीं चाहते हैं, वे एक ऐसा नैरेटिव सेट करते हैं, जो भारत के अंदर लोगों को तोड़ने का काम कर रहे हैं। जो भी सर्वे कंपनियां देश के बारे में बताती है, वह जमीनी हकीकत से बिल्कुल दूर है। इसलिए, हमें अगर किसी भी सर्वे के बारे में पता चले तो उसकी जमीनी हकीकत की जानकारी आम जनता तक पहुंचानी जरुरी है।

अन्नामलाई ने कहा कि कांग्रेस साउथ इंडिया में आज एक नैरेटिव फैला रही है कि मोदी जी 400 पार इसलिए चाहते हैं, क्योंकि वह संविधान को खत्म करना चाहते हैं। जबकि, हकीकत यह है कि कांग्रेस के समय में संविधान पूरी तरह से खतरे में था और सस्पेंड किया गया। आज अगर कोई फस्ट टाइम वोटर है, वह कांग्रेस सरकार के समय में 8 साल का रहा होगा, तो उसको अतीत में क्या हुआ, उसके बारे में जानकारी देना जरूरी है।

तमिलनाडु के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आज इंडी गठबंधन के पास न तो प्रधानमंत्री कैडिडेट है, न ही उनके पास कोई एक नैरेटिव है, क्योंकि हर राज्य में अलग अलग नैरेटिव है, यह लोकसभा चुनाव है जो देश के लिए है ना कि किसी राज्य के लिए। कांग्रेस की सरकार में जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे, उन्होंने कहा था कि 1990 तक घर-घर में लोग पानी पाइप के माध्यम से पीएंगे। लेकिन, यह सपना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नल जल योजना के माध्यम से पूरा किया। इसलिए सोशल मीडिया वालंटियर्स इस बार लोगों को नैरेटिव और सत्य दोनों में अंतर समझाने की कोशिश करें।