नागौर से इंडिया गठबंधन के प्रत्याशी हनुमान बेनीवाल की जीत

0
9

नागौर, 4 जून (आईएएनएस)। राजस्थान की नागौर लोकसभा सीट पर जीत-हार की स्थिति साफ हो गई है। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक हनुमान बेनीवाल ने भाजपा प्रत्याशी ज्योति मिर्धा को 40 हजार वोटों से करारी शिकस्त दी है। बता दें, हनुमान बेनीवाल की पार्टी का कांग्रेस से गठबंधन था। जीत दर्ज करने के बाद उन्होंने नागौर की जनता का आभार जताया।

हनुमान बेनीवाल ने कहा कि जब मैं एनडीए से अलग हुआ था, तब उन्होंने कहा था कि आप हमारी वजह से जीते हो, तब मैंने कहा था कि इस बार आप आना और जीत कर दिखाना। कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने नागौर से मुझे जिताने के लिए अपना पूरा दमखम लगाया और उसी का परिणाम है कि यहां से मेरी जीत हुई और बीजेपी प्रत्याशी ज्योति मिर्धा की हार हुई, जिन्होंने इस सीट को जीतने के लिए सौ करोड़ रुपए तक खर्च किए।

उन्होंने कहा कि पहले दिन से ही हम लोगों ने साथ काम किया, 500 से ज्यादा रैलियां की। सभी समाज के लोगों ने मुझे वोट दिए लेकिन, मुस्लिम समुदाय ने 100 प्रतिशत मतदान किया। मैं सभी लोगों के लिए काम करूंगा, हर किसी के हित में काम करूंगा। ये मेरी नहीं नागौर की जनता की जीत है, मैं सभी लोगों को साथ लेकर चलूंगा, हर किसी को साथ लेकर चलूंगा।

उन्होंने कहा कि एनडीए का चार सौ पार का नारा फेल हो गया। पीएम मोदी तो इतना बौखला गए थे कि भाजपा को भूलकर मोदी मोदी, मेरी गारंटी, मोदी की गारंटी करने लगे। बेहतर सड़कें, स्कूल, रेल, पीने और सिंचाई का पानी की व्यवस्था कराना हमारी प्राथमिकता रहेगी। राज्य में हमारी सरकार नहीं है, इसके बाद भी हम राज्य सरकार से काम कराएंगे। सड़क के लिए लड़ेंगे, दिल्ली में भी संघर्ष करेंगे, दिल्ली से भी अपने क्षेत्र के लिए खूब पैसा लाएंगे।

नागौर लोकसभा सीट पर हनुमान बेनीवाल का मुकाबला कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाली ज्योति मिर्धा से था।

बता दें, लोकसभा चुनाव 2019 में हनुमान बेनीवाल ने भाजपा के साथ गठबंधन किया था। तब भी उन्होंने ज्योति मिर्धा को हराकर जीत दर्ज की थी। ज्योति मिर्धा उस समय कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थी।