नियमों और प्रक्रियाओं का पालन करते हुए बनें अच्छे सांसद, एनडीए सांसदों को पीएम मोदी ने दी नसीहत

0
13

नई दिल्ली, 2 जुलाई (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को एनडीए सांसदों की बैठक में नसीहत देते हुए कहा कि सभी सांसदों को संसदीय लोकतंत्र के नियमों एवं प्रक्रियाओं का पालन करते हुए अच्छा सांसद बनना चाहिए। सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी ने बैठक को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि गांधी परिवार यह सहन नहीं कर पा रहा है कि उनके परिवार के बाहर का कोई व्यक्ति, एक चाय वाला तीसरी बार पीएम कैसे बन सकता है। इसलिए अब उनके व्यवहार में गुस्सा और हताशा साफ दिखाई दे रहा है।

एनडीए संसदीय दल की बैठक के बारे में जानकारी देते हुए केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री किरेन रिजिजू ने बताया कि आज एनडीए सांसदों की पहली बैठक में (संसद सत्र के दौरान) ऐतिहासिक जीत और तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के लिए एनडीए की तरफ से फूलमाला के साथ पीएम नरेंद्र मोदी का स्वागत और अभिनंदन किया गया। पीएम मोदी के नेतृत्व में पूरा एनडीए एकजुट होकर देश को आगे ले जाने के लिए काम करेगा।

बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के बारे में जानकारी देते हुए किरेन रिजिजू ने बताया कि प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि हर सांसद देश सेवा के लिए संसद में आया है। सभी सांसदों को संसदीय लोकतंत्र के नियमों एवं प्रक्रियाओं का पालन करते हुए अच्छा सांसद बनना चाहिए। एनडीए के सभी सांसदों को देश को सबसे ऊपर रखकर काम करना है। प्रधानमंत्री ने सांसदों के व्यवहार और आचरण के बारे में भी कहा कि सभी सांसदों को अपने-अपने क्षेत्र के विषय को प्रभावी ढंग से सदन में रखना चाहिए। इसके साथ ही नियमों और प्रक्रियाओं के मुताबिक देश से जुड़े अन्य बड़े विषयों पर भी अपनी बात रखनी चाहिए।

किरेन रिजिजू ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने सभी सांसदों को प्रधानमंत्री संग्रहालय जाने की भी सलाह दी। पहले कई पूर्व पीएम को महत्व नहीं दिया गया था लेकिन नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद जो पीएम संग्रहालय बनाया गया है उसमें देश के सभी पूर्व पीएम के कार्यों एवं उपलब्धियों के बारे में बताया गया है।

एक सवाल के जवाब में किरेन रिजिजू ने कहा कि यह स्वाभाविक बात है कि जब देश का प्रधानमंत्री कोई संदेश देता है तो सिर्फ सांसदों के लिए ही नहीं बल्कि यह देश के सभी लोगों के लिए जरूरी होता है।

राहुल गांधी के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का संदेश सबके लिए है। कल जैसे विपक्ष के नेता राहुल गांधी ने सदन में व्यवहार किया, जैसे स्पीकर की तरफ पीठ करके बोलते रहे, नियमों के बाहर जाकर बोलते रहे, स्पीकर का ही अपमान करते हैं, ऐसा हमारी पार्टी के सांसदों को, एनडीए के सांसदों को नहीं करना चाहिए, यह हम सबके लिए सीख है।

उन्होंने यह भी कहा कि एनडीए एकजुट होकर बहुत अच्छी तरह से काम कर रहा है। एनडीए का फ्लोर कोआर्डिनेशन बहुत अच्छा है। एनडीए के सभी सांसदों का धन्यवाद देना चाहता हूं कि वे आज की इस पहली बैठक में शामिल हुए।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर हुई चर्चा का जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम को 4 बजे लोकसभा में देंगे और राज्यसभा में कल 12 से 1 बजे के बीच दे सकते हैं।

आपको बता दें कि, संसद सत्र के दौरान आम तौर पर भाजपा मंगलवार को अपने सांसदों की बैठक किया करती थी लेकिन एनडीए सांसदों के बीच बेहतर तालमेल स्थापित करने के लिए इस बार एनडीए संसदीय दल की बैठक बुलाई गई है।