पीएम मोदी के ‘फर्श से अर्श’ तक के सियासी सफर का प्रमाण है ये तस्वीर

0
10

नई दिल्ली, 10 जून (आईएएनएस)। नरेंद्र मोदी ने लगातार तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। पंडित जवाहर लाल नेहरू के बाद वह ऐसा करने वाले भारत के दूसरे प्रधानमंत्री बन गए हैं।

ऐसे में सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की एक ऐसी तस्वीर वायरल हो रही है, जहां वह केशुभाई पटेल के लिए आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में जमीन पर बैठे नजर आ रहे हैं। तस्वीर में उनके ठीक पीछे कुर्सी पर भारत रत्न लाल कृष्ण आडवाणी बैठे हैं।

मोदी आर्काइव नाम के एक्स हैंडल पर यह तस्वीर आप देख सकते हैं। यह तस्वीर तब की है जब गुजरात में पहली बार भाजपा ने पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाई थी। नरेंद्र मोदी उस समय गुजरात इकाई के महासचिव (संगठन) के रूप में काम कर रहे थे। भाजपा की इस जीत के पीछे प्रमुख रूप से उनका योगदान था। उन्हें संघ से भाजपा में आए केवल एक दशक ही बीता था, और उनकी कड़ी मेहनत और संगठनात्मक कौशल पहले से सबको समझ में आ गई थी। उन्होंने गुजरात में भाजपा को जमीन से उठाकर इतनी ऊंचाई पर लाकर खड़ा कर दिया था।

पीएम मोदी ने शायद ही उस वक्त कभी चुनाव लड़ने के बारे में सोचा भी होगा। उनके विचार में भाजपा के संगठन को मजबूत बनाने के अलावा तब और कुछ नहीं था।

एक दशक की कठोर मेहनत के बाद उन्होंने गुजरात में भाजपा संगठन को इतना मजबूत बना दिया था, जिसका परिणाम यह था कि गुजरात में तब केशुभाई पटेल के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत की सरकार बनी थी।

इस उल्लेखनीय सफलता के बाद गुजरात में भाजपा ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और फिर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, भाजपा एक ताकतवर पार्टी के रूप में वहां उभरी और तब से लेकर अब तक दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बन गई। यह पार्टी चुनाव दर चुनाव और मजबूत होती गई। देश के कई राज्यों के साथ केंद्र की सत्ता पर भी प्रचंड जीत हासिल कर काबिज हुई और यह क्रम आज भी जारी है।

रविवार को 30 साल बाद नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। इसके बाद से उनकी यह पुरानी तस्वीर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर वायरल हो रही है। भाजपा संगठन को शक्ति प्रदान करने वाले पीएम मोदी की यह सादगी भरी तस्वीर लोगों को खूब पसंद आ रही है और लोग इस पर जमकर कमेंट कर रहे हैं।