प्रधानमंत्री पहुंचे भाजपा मुख्यालय, सीईसी की बैठक में लोकसभा उम्मीदवारों के नामों पर चल रहा मंथन

0
17

नई दिल्ली, 29 फरवरी (आईएएनएस)। लोकसभा उम्मीदवारों की पहली सूची पर विचार मंथन के लिए पार्टी मुख्यालय में गुरुवार को भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक शुरू हो गई है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की अध्यक्षता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में चल रही केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय संगठन महासचिव बीएल संतोष, केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, के.लक्ष्मण और इकबाल सिंह लालपुरा सहित केंद्रीय चुनाव समिति के अन्य सदस्य मौजूद हैं।

सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक से पहले प्रधानमंत्री मोदी के आधिकारिक आवास पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा की एक उच्चस्तरीय बैठक भी हुई है। पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में शामिल होने के लिए केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल, गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सांवत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय और वसुंधरा राजे सिंधिया के अलावा भाजपा शासित राज्यों के उपमुख्यमंत्री और लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बनाए गए विभिन्न राज्यों के प्रभारी, सह चुनाव प्रभारी, प्रदेश कोर कमेटी के महत्वपूर्ण नेता भी पार्टी मुख्यालय में मौजूद हैं।

ये नेता अपने-अपने राज्य के अनुसार केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चल रही पार्टी की इस केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में उत्तर प्रदेश, गुजरात, तेलंगाना, राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, केरल, उत्तराखंड, गोवा, झारखंड, दिल्ली, त्रिपुरा, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर सहित अन्य कई राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के 150 से ज्यादा लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम पर विचार मंथन हो सकता है।

सूत्रों के मुताबिक, पार्टी लोकसभा उम्मीदवारों की पहली सूची शुक्रवार को जारी कर सकती है। बताया जा रहा है कि पार्टी की कोशिश है कि 10 मार्च तक 300 से ज्यादा लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम तय कर लिए जाएं।