प्रधानमंत्री मोदी ने देश में चल रही हीटवेव की स्थिति और मानसून की शुरुआत की तैयारियों के लिए समीक्षा बैठक की

0
9

नई दिल्ली, 2 जून (आईएएनएस)। देश भर में हीटवेव की वजह से सामान्य जनजीवन पर प्रभाव साफ देखने को मिल रहा है। देश में बड़ी आबादी इससे प्रभावित है।

बड़ी संख्या में लोगों की जान भी इस हीटवेव की वजह से चली गई है। हीटवेव की वजह से बीमार लोग बड़ी संख्या में अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। पहाड़ी इलाकों में भी तापमान में बहुत ज्यादा वृद्धि देखी जा रही है। पानी की समस्या से लोग परेशान हैं। ऐसे में हीटवेव की स्थिति और मानसून की शुरुआत की तैयारियों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक समीक्षा बैठक की।

पीएम आवास में हुई इस समीक्षा बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने आग की घटनाओं को रोकने और उनसे निपटने के लिए नियमित आधार पर उचित अभ्यास जारी रखने का निर्देश दिया। पीएम ने अस्पतालों और अन्य सार्वजनिक स्थानों का फायर ऑडिट और इलेक्ट्रिकल सेफ्टी ऑडिट नियमित रूप से कराने का भी निर्देश दिया।

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जंगलों में फायर-लाइन के रखरखाव और बायोमास के उपयोग के लिए नियमित अभ्यास की योजना बनाई जानी चाहिए। क्योंकि इस हीटवेव की वजह से देश में आग लगने की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है।

पीएम मोदी ने 7, लोक कल्याण मार्ग स्थित अपने आवास पर देश में चल रही हीटवेव की स्थिति और मानसून की शुरुआत की तैयारियों के लिए यह बैठक की।

प्रधानमंत्री मोदी को बताया गया कि आईएमडी के पूर्वानुमान के अनुसार, राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में हीटवेव जारी रहने की संभावना है। इस वर्ष, देश के अधिकांश हिस्सों में मानसून सामान्य और सामान्य से ऊपर और देश के कुछ हिस्सों में सामान्य से कम रहने की संभावना है।

प्रधानमंत्री मोदी को इस बैठक के दौरान जंगल में लगने वाली आग की समय पर पहचान और उसके प्रबंधन में “वन अग्नि” पोर्टल की उपयोगिता के बारे में बताया गया।

बैठक में प्रधानमंत्री के साथ पीएमओ और संबंधित मंत्रालयों के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।