बिहार महागठबंधन में खींचतीन, दिल्ली में नेता ढूंढ रहे समाधान

0
15

नई दिल्ली, 26 मार्च (आईएएनएस)। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री व राजद नेता तेजस्वी यादव, कांग्रेस महासचिव के.सी. वेणुगोपाल और वरिष्ठ कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक बिहार की लोकसभा सीटों के बंटवारे को लेकर दिल्ली में एक महत्वपूर्ण बैठक कर रहे हैं। मंगलवार शाम शुरू हुई यह बैठक मुकुल वासनिक के आवास पर हो रही है। बिहार में महागठबंधन के बीच कई सीटों को लेकर आपसी सहमति बनी है।

औरंगाबाद सीट को कांग्रेस परंपरागत रूप से अपना बता रही है, लेकिन कांग्रेस को झटका देते हुए राजद ने औरंगाबाद सीट से अभय कुशवाहा को उम्मीदवार घोषित कर दिया है। राजद के इस फैसले से न केवल कांग्रेस, बल्कि कांग्रेस के संभावित उम्मीदवार और पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार भी नाराज बताए जा रहे हैं। निखिल औरंगाबाद से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं। वहीं बेगूसराय सीट से वाममार्चा ने अवधेश राय को अपना उम्मीदवार घोषित किया है।

बेगूसराय भी वह सीट है, जहां से कांग्रेस अपना उम्मीदवार मैदान में उतरना चाहती है। इसी घटनाक्रम के कारण महागठबंधन के लिए बिहार में सीट बंटवारा कठिन बना हुआ है। सीट बंटवारे पर एक राय बनाने व इसे अंतिम रूप देने के लिए मंगलवार रात दिल्ली में यह बैठक की जा रही है। माना जा रहा है कि सीटों के समझौते को लेकर कांग्रेस व राजद की यह अंतिम बैठक है। समझौते को अंतिम रूप दिए जाने के बाद सीट बंटवारे की घोषणा की सभंव है।

कांग्रेस राष्ट्रीय गठबंधन समिति के प्रमुख मुकुल वासनिक के आवास पर हो रही इस बैठक में बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह, प्रभारी मोहन प्रकाश, के.सी. वेणुगोपाल के साथ राजद नेता तेजस्वी यादव मौजूद हैं।

दरअसल, बिहार में महागठबंधन के पांच घटक दलों में सीट बंटवारा होना है। सीट बंटवारे को लेकर अभी तक न तो पूरी तरह सहमति बनी है और न ही इसका कोई औपचारिक ऐलान किया गया है। महागठबंधन के दलों ने कई सीटों पर उम्‍मीदवार काे चुनाव चिह्न देना भी शुरू कर दिया है। इससे गठबंधन में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। हालांकि राजद और कांग्रेस की ओर से सभी बातें सामान्य होने का दावा किया जा रहा है।

राजद ने अभी तक अपने कई उम्मीदवारों को चुनाव चिह्न दिया है, लेकिन आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। वहीं, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने बेगूसराय लोकसभा सीट से अवधेश राय को टिकट दे दिया है। वहीं बिहार एनडीए में सीटों का समझौता हो चुका है और इसकी घोषणा भी की जा चुकी है। एनडीए में हुए गठबंधन के मुताबिक, बिहार में भाजपा 17, जदयू 16, चिराग पासवान की लोजपा 5, जीतन राम मांझी की पार्टी 1 और उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी 1 सीट पर चुनाव लड़ेगी।