बिहार में पिछली बार जिसने हराया, इस बार उसे हराकर ‘चुकता’ किया हिसाब

0
11

पटना, 5 जून (आईएएनएस)। बिहार में लोकसभा चुनाव 2024 में कुछ अनोखा देखने को मिला है। इस बार यहां ऐसे लोकसभा उम्मीदवार हैं जिन्होंने उन सांसदों को हराया, जिससे वह पिछली बार हार गए थे।

उन्होंने पिछली बार की हार का बदला चुकता कर हिसाब बराबर कर लिया। बिहार में पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र में पिछले चुनाव में भाजपा प्रत्याशी रामकृपाल यादव ने राजद की प्रत्याशी मीसा भारती को हराया था। लेकिन इस चुनाव में एक बार दोनों का चुनावी मैदान में सामना हुआ और मीसा भारती ने भाजपा प्रत्याशी रामकृपाल यादव को हराकर बदला चुकता कर लिया।

ऐसी ही लड़ाई मुजफ्फरपुर के चुनावी मैदान में देखने को मिली। यहां तो पुराने प्रतिद्वंदियों ने पार्टियां भी बदल ली थी।

पिछले चुनाव में भाजपा के अजय निषाद ने विकासशील इंसान पार्टी के राजभूषण निषाद को पराजित किया था। लेकिन इस बार भाजपा ने अजय निषाद का टिकट काटकर राजभूषण निषाद को अपना उम्मीदवार बनाया। इस चुनाव में भाजपा के राजभूषण निषाद ने कांग्रेस के अजय निषाद को पराजित कर हिसाब बराबर कर लिया।

कटिहार में भी बदले की लड़ाई देखने को मिली। कटिहार में कांग्रेस के तारिक अनवर ने जदयू के दुलाल चन्द गोस्वामी को हराया है। 2019 के चुनाव में गोस्वामी ने उन्हें हराया था। इस बार तारिक ने हिसाब चुकता कर लिया।

इसी तरह, जहानाबाद के चुनावी मैदान में राजद के सुरेंद्र यादव ने भी जदयू के प्रत्याशी चंदेश्वर चंद्रवंशी को हराकर बदला लिया।

दरअसल, पिछले चुनाव में जदयू के चंद्रवंशी ने राजद के सुरेंद्र यादव को पराजित किया था और लोकसभा पहुंचे थे। इस चुनाव में पार्टियों ने फिर से दोनों नेताओं को प्रत्याशी बनाकर चुनावी मैदान में उतारा। इस चुनाव में यादव ने चंद्रवंशी को 1.42 लाख के बड़े अंतर से हराकर पिछली हार का बदला ले लिया।