भाजपा महिला मोर्चा ने स्वाति मालीवाल को दिया भरोसा, इंसाफ की लड़ाई में देंगे साथ

0
9

नई दिल्ली, 16 मई (आईएएनएस)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर मारपीट की शिकार हुई आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल का साथ देने के लिए दिल्ली भाजपा महिला मोर्चा आगे आई है। मोर्चा की नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को स्वाति मालीवाल से मुलाकात करने के लिए उनके घर पहुंचा।

भाजपा की महिला नेताओं के घर पहुंचने पर स्वाति मालीवाल के घर के एक सहायक ने बाहर आकर उनसे बातचीत की। स्वाति मालीवाल के सहायक ने ही भाजपा महिला मोर्चा की दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ऋचा पांडेय मिश्रा द्वारा स्वाति मालीवाल को लिखा गया पत्र स्वीकार किया।

भाजपा नेता ने अपना पत्र स्वाति मालीवाल के मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप भी कर दिया। समर्थन पत्र सौंपने के बाद ऋचा पांडेय मिश्रा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वे यहां राजनीतिक उद्देश्य से नहीं आए हैं, बल्कि, महिला अधिकारों के लिए आवाज उठाने वाली प्रखर महिला नेता जो खुद अभद्रता और हिंसा की शिकार हुई हैं, को समर्थन देने के लिए यहां आए हैं।

उन्होंने कहा कि वह समझ सकती हैं कि अभद्रता की घटना के बाद वह शारीरिक एवं मानसिक वेदना से गुजर रही होंगी और दिल्ली प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा उन्हें हिंसा की शिकार एक महिला होने के नाते अपना पूर्ण समर्थन देती हैं। वे यह उम्मीद करती हैं कि स्वाति मालीवाल उस घटना का पूरा विवरण दिल्ली पुलिस को देकर दोषी को सजा दिलवाएंगी।

स्वाति मालीवाल को लिखे पत्र में भाजपा की महिला नेता ने कहा, “हाल ही में आपके साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री निवास पर हुई निंदनीय घटना के बारे में जानकर भाजपा महिला मोर्चा अत्यंत चिंतित और व्यथित है। हमारी राजनीतिक विचारधारा भले ही अलग है, लेकिन एक महिला के रूप में हम सब आपके साथ हैं। आप महिला अधिकारों के लिए हमेशा से सजग रही हैं। जब मुख्यमंत्री आवास जैसी सुरक्षित स्थान पर आपके साथ दुर्व्यवहार हो सकता है तो दिल्ली की एक सामान्य महिला की सुरक्षा की स्थिति क्या होगी यह सोच कर ही डर लगता है। एक महिला सांसद के साथ इस प्रकार का अभद्र व्यवहार न केवल आपके प्रति अन्याय है, बल्कि यह पूरे देश की महिलाओं का अपमान है।”

ऋचा पांडेय मिश्रा ने पत्र में आगे कहा, “इस असंवेदनशील और शर्मनाक कृत्य ने हमें झकझोर कर रख दिया है। भाजपा महिला मोर्चा आपके साथ खड़ी है और इस कठिन समय में आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को लेकर चिंतित है। हमें विश्‍वास है कि आप इस घटना के विरुद्ध अपने आत्मबल को मजबूत रखेंगी और पूरे देश की महिलाओं की आवाज बनेंगी। यह सिर्फ एक व्यक्तिगत मामला नहीं है, बल्कि पूरे देश की महिलाओं के सम्मान का मामला है। हम आपसे विनम्र निवेदन करते हैं कि आप इस घटना की पूरी सूचना पुलिस को अवश्य दें, ताकि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सके।”