‘भारत को विभाजित कर बाहरी शक्तियों के हाथ में सौंपना चाहती है कांग्रेस’, सैम पित्रोदा के बयान पर बोली भाजपा

0
12

नई दिल्ली, 8 मई (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने सैम पित्रोदा के बयान को भारत के अस्तित्व के लिए चुनौती और भारत, भारतीयों की पहचान, सनातन एवं भारतीय लोकतंत्र का अपमान बताते हुए कांग्रेस के आला नेताओं और राहुल गांधी से माफी मांगने की मांग की है।

भाजपा के राष्ट्रीय मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि जैसे-जैसे लोकसभा का चुनाव आगे बढ़ता जा रहा है, कांग्रेस का नकाब उतरता चला जा रहा है। राहुल गांधी के कुख्यात उस्ताद सैम पित्रोदा ने भारत के अस्तित्व पर ही सवाल उठा दिया है और उनके बयान ने कांग्रेस के इरादे जाहिर कर दिए हैं।

उन्होंने कहा कि यह भारत के वास्तविक स्वरूप की लड़ाई है। अब यह विषय चुनाव या राजनीति का नहीं, बल्कि, भारत के अस्तित्व का बन गया है, क्योंकि, सैम पित्रोदा भारत के अस्तित्व पर सवाल उठा रहे हैं। यह प्राचीन भारत में लोकतंत्र की व्यवस्था के प्रति उनकी अज्ञानता और अवमानना का प्रतीक है। वह स्किन के कलर के आधार पर भारतीयों को बांटने की बात कर रहे हैं, इससे ज्यादा शर्मनाक और घटिया बयान नहीं हो सकता है।

त्रिवेदी ने कहा कि पित्रोदा ने कहा है कि भारत की विविधता और लोकतंत्र को रामनवमी, राम मंदिर और पीएम मोदी के मंदिर जाने से चुनौती मिल रही है। दुनियाभर में भारत को ‘मदर ऑफ डेमोक्रेसी’ कहा जाता है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व विदेशी मूल का हो गया है तो अब ये भारत के लोगों में भी विदेशी मूल ढूंढने लगे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस की मानसिकता बिल्कुल साफ है, भारत को उत्तर-दक्षिण, भाषा और अन्य आधारों पर अंदर से तोड़ो और विदेश से जोड़ो। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी की मंशा बिल्कुल साफ हो गई है कि वह किस तरह का भारत बनाना चाहते हैं।

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि सैम पित्रोदा इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के चेयरमैन हैं और राहुल गांधी के मेंटर भी हैं। वह लगातार सनातन, भारत एवं भारतीय लोकतंत्र का अपमान कर रहे हैं, दुनियाभर में भारत की छवि खराब कर रहे हैं।

कांग्रेस के सैम पित्रोदा के बयान से किनारा किए जाने के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि यह कांग्रेस किस तरह का किनारा करती है कि ना राहुल गांधी कुछ बोलते हैं, ना ही सोनिया गांधी कुछ बोलती हैं।

उन्होंने कहा कि देश की जनता इस इशारे को बखूबी समझती है कि कांग्रेस की मंशा देश को विभाजित करने और बाहरी शक्तियों के हाथ में सौंपने की है। वह विदेशी शक्तियों के हाथ में खेल रहे हैं।

राजीव चंद्रशेखर ने भी कहा कि सैम पित्रोदा लगातार इस तरह का बयान दे रहे हैं और कांग्रेस पार्टी उनसे किनारा करने की बात करती रहती है, आखिर यह किस तरह का किनारा करना है ?