मंत्री बनने के बाद पहली बार गया पहुंचे जीतन राम मांझी, तेजस्वी यादव पर साधा निशाना

0
10

पटना, 14 जून (आईएएनएस)। मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिलने के बाद पहली बार जीतन राम मांझी अपने गृह जिला गया पहुंचे। उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि इस बात की खुशी है कि मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। गया पहुंचने पर जीतनराम मांझी का उनके समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने तेजस्वी यादव पर जमकर निशाना साधा।

जीतनराम मांझी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “यह कहने में कोई गुरेज नहीं होना चाहिए कि मौजूदा समय में बिहार में कई तरह की दिक्कतें हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मेरे कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी है, जिसका मैं बखूबी निर्वहन करने का प्रयास करूंगा। चाहे इसके लिए मुझे कितना भी परिश्रम करना पड़े। मेरी यही कोशिश रहेगी कि अपने राज्य और अपने लोगों के हित में हमेशा अपनी आवाज उठाने के लिए तत्पर रहूं। इस बीच मुझे दिल्ली से बाहर आने का मौका मिला तो मुझे लगा कि अपने लोगों के बीच जाकर उनका आभार प्रकट करना चाहिए, क्योंकि आज मैं जो कुछ भी हूं, वो अपने लोगों के प्यार और स्नेह की वजह से हूं। कई लोग मेरे पास आ रहे हैं। मुझे बधाई दे रहे हैं। मुझे अपना स्नेह दिखा रहे हैं। इसके लिए मैं खुद को भाग्यशाली समझता हूं। मैंने कभी सोचा नहीं था कि मुझे मेरे राजनीतिक जीवन में ऐसी अनुभूति भी प्राप्त होगी, लेकिन मेरे लिए यह पल निसंदेह अभूतपूर्व है, जिसके लिए मैं अपने लोगों का आभार प्रकट करता हूं।“

उन्होंने आगे कहा, “केंद्रीय मंत्रिमंडल में रहते हुए मेरी कोशिश रहेगी कि मैं प्रधानमंत्री के विजन को पूरा कर सकूं और गया के लोगों की अपेक्षाओं पर भी खरा उतर सकूं। गया के लोगों की समृद्धि मेरी प्राथमिकता रहेगी।“

जीतनराम मांझी ने कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर तेजस्वी यादव और महागठबंधन के अन्य नेताओं को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा, “इन लोगों को कानून-व्यवस्था पर बोलने का कोई नैतिक हक नहीं है। इन लोगों के राज में बिहार की कानून व्यवस्था कैसी थी, यह किसी से छुपा नहीं है। ऐसी स्थिति में मैं समझता हूं कि इन लोगों को इस गंभीर विषय पर कुछ भी बोलना नहीं चाहिए। इन लोगों ने बिहार की कैसी हालत कर दी थी, यह सब जानते हैं। आज के बिहार में अपराधियों के खिलाफ फौरन कार्रवाई होती है, लेकिन पहले ऐसा नहीं था। पहले सीएम दफ्तर पर इस संबंध में बात होती थी, लेकिन आज बिहार की रिवायत बदल चुकी है। 2005 से पहले के बिहार के कानून व्यवस्था को अगर आज हम लोग याद करें, तो हमारी रूह कांप जाती है। वहीं, अगर आज बिहार में कहीं भी कोई आपराधिक घटना घटती है तो उस अपराधी के खिलाफ फौरन कार्रवाई होती है।“

इसके अलावा, उन्होंने मोदी सरकार पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा, “विपक्ष के कुछ लोग यह कहते नहीं थक रहे हैं कि यह सरकार गिर जाएगी। यह एक अस्थिर सरकार है, लेकिन उन सभी लोगों को एक बात कह देना चाहता हूं कि यह सरकार हर कीमत पर अपना पांच साल कार्यकाल ना महज पूरा करेगी, बल्कि देश की अर्थव्यवस्था को विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाकर ही दम लेगी। चाहे कुछ भी हो जाए। रही बात विपक्ष की तो मैं उनकी बातों पर कोई ध्यान नहीं देता। वो लोग पहले दिन से ही सरकार के संबंध में उल्टी सीधी बातें कर रहे हैं, क्योंकि वो लोग हताश हो चुके हैं।“