येलेन के अजीब सिद्धांत का अमेरिकी नेटिज़न्स ने मजाक उड़ाया

0
20

बीजिंग, 30 मार्च (आईएएनएस)। हाल ही में अमेरिकी वित्त मंत्री जेनेट एल येलेन ने कुछ विचित्र टिप्पणियां कीं, जिससे अमेरिकी नेटिज़न्स ने उनका मजाक उड़ाया। अमेरिका के जॉर्जिया में एक फोटोवोल्टिक सेल फैक्ट्री के दौरे पर पहुंची येलेन ने दावा किया कि चीन के नए ऊर्जा उद्योग में “अतिक्षमता” की समस्या है, जिसने वैश्विक कीमतों और उत्पादन मॉडल को विकृत कर दिया है और अमेरिकी कंपनियों और श्रमिकों के हितों को नुकसान पहुंचाया है।

जैसे ही यह बयान सामने आया, अमेरिकी नेटिजनों ने तुरंत इसका मजाक उड़ाया: “पहले कह रहे थे कि चीन हरित ऊर्जा के क्षेत्र में पर्याप्त काम नहीं कर रहा है, अब अचानक उन पर बहुत अधिक करने का आरोप लगा रहे हैं। अमेरिका चुप क्यों नहीं रह सकता और वह नहीं कर सकता जो उसे करना चाहिए? जब अमेरिका को प्रतिस्पर्धात्मक लाभ होता है, तो वह मुक्त बाजार की बात करता है; जब ऐसा नहीं होता है, तो वह संरक्षणवाद की बात करता है। यह तो अमेरिकी नियम ही है।”

इन टिप्पणियों ने कुछ अमेरिकी राजनेताओं की दबंग बयानबाजी और पाखंडी “दोहरे मानकों” को उजागर कर दिया है।

हरित विकास चीनी शैली के आधुनिकीकरण की एक अंतर्निहित आवश्यकता है। चीन “कार्बन शिखर” और “कार्बन तटस्थता” के लक्ष्य प्रस्तावित करने वाला दुनिया का पहला प्रमुख देश है। 2023 में, चीन के “तीन नए उत्पादों” ने, जिनमें इलेक्ट्रिक यात्री वाहन, लिथियम-आयन बैटरी और सौर बैटरी शामिल हैं, कुल 10.6 खरब युआन (लगभग 122.4 खरब रुपये) का निर्यात किया, जिसमें वर्ष 2022 की तुलना में लगभग 30 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

यह न केवल चीन की आर्थिक जीवन शक्ति को प्रदर्शित करता है, बल्कि अन्य देशों को हरित परिवर्तन करने और वैश्विक जलवायु परिवर्तन से निपटने में सकारात्मक योगदान देने में भी मदद करता है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)