राजद नेता मनोज झा ने मतगणना की धीमी गति को लेकर उठाया सवाल (लीड-1)

0
9

पटना, 4 जून (आईएएनएस)। राजद नेता मनोज झा ने बिहार में मतगणना की धीमी गति को लेकर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि कई जगहों पर काउंटिंग धीमी कराई जा रही है। इस बात की जानकारी चुनाव आयोग को भी दी गई है। उन्होंने कहा कि ऐसी सभी सीटों पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव लगातार नजर बनाए हुए हैं, लोगों से संपर्क में हैं।

उन्होंने कहा कि कई सीटों पर हमारे प्रत्याशी और उनके प्रतिद्वंद्वियों के बीच बहुत कम मार्जिन है। ऑन एन एवरेज तीन-साढ़े तीन लाख वोटों की गिनती हुई है। हर लोकसभा में साढ़े दस से ग्यारह लाख वोटों की गिनती होनी है। अभी तीस प्रतिशत से भी कम वोटों की गिनती हुई है। बिहार का आंकड़ा अभी बदलेगा, देश का आंकड़ा पलट चुका है। चार सौ पार की बात करने वाले 220-230 सीट के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नतीजे की पूरी समीक्षा होगी, लेकिन बात यह है कि पीएम मोदी की विदाई तय हो गई है। वो दोबारा प्रधानमंत्री नहीं बनने जा रहे हैं। तेजस्वी यादव पूरे चुनाव के दौरान बार-बार कहते रहे कि हो सकता है कि 4 जून के बाद नीतीश कुमार कोई बड़ा फैसला लें। नीतीश कुमार या चंद्रबाबू नायडू बदले की राजनीति के पक्ष में कभी नहीं रहे, हमने इन दोनों के साथ काम किया है।

उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी बार-बार कहते रहे कि चुनाव के परिणाम के बाद एक बड़ी तस्वीर आएगी। बिहार के संदर्भ में हमारा आंकड़ा डबल डिजिट में अभी काफी आगे जाएगा। कई जगह हम दो हजार से पीछे हैं तो कई जगह तीन सौ वोट से पीछे हैं।

उन्होंने कहा कि मीडिया के माध्यम से मैं बिहार की तमाम जनता और समर्थकों से कहना चाहता हूं कि रात तक काउंटिंग होगी, जुटे रहना है, हिलना नहीं है। देश को एक बेहतर विकल्प मिलेगा, अधिकारी लोग भी ध्यान रखें, कानून और संविधान के साथ चलें। सत्ता परिवर्तन में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू की अहम भूमिका होगी। ये दोनों को उस तरह की राजनीति पसंद नहीं है जो हमारी संस्थाओं को कब्जा कर चुकी है, जो लोगों को प्रताड़ित करती है, जो रोजगार पर बात न करके भैंस और मंगलसूत्र पर बात करती है।