रामलीला मैदान में विपक्ष की लोकतंत्र बचाओ रैली, वहीं भाजपा के भ्रष्टाचार पर वार वाले पोस्टर ने मचा दी खलबली

0
10

नई दिल्ली, 31 मार्च (आईएएनएस)। एक तरफ जहां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में इंडिया गठबंधन ने ‘लोकतंत्र बचाओ रैली’ की। वहीं, दूसरी तरफ भ्रष्टाचार के खिलाफ दिल्ली की सड़कें भाजपा के पोस्टर और होर्डिंग से पटे पड़े हैं।

दरअसल, रामलीला मैदान में मंच पर इकट्ठा विपक्षी दलों के नेताओं ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), इनकम टैक्स और केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर विपक्ष को दबाने का काम कर रही है। साथ ही जांच एजेंसियों की मदद से नेताओं को जेल में बंद कर दिया जा रहा है या फिर उन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं।

इंडी गठबंधन की इस महारैली में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, अखिलेश यादव, भगवंत मान, फारूख अब्दुल्ला, शरद पवार, तेजस्वी यादव सहित कई बड़े नेता शामिल हुए। वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पोस्टर और बैनर के जरिए विपक्षी दलों के इस इंडी गठबंधन की इस रैली पर निशाना साधा।

भाजपा ने दिल्ली की सड़कों पर जो पोस्टर और होर्डिंग्स लगाए उसमें लिखा कि, ‘वो कहते हैं कि भ्रष्टाचारी बचाओ, मोदी जी कहते हैं भ्रष्टाचार को हटाओ।’

यानी भाजपा का आरोप है कि एक तरफ पूरा विपक्ष भ्रष्टाचारी नेताओं को बचाने के लिए एकजुट हुआ है, वहीं प्रधानमंत्री मोदी देश से भ्रष्टाचार को हटाने की बात कर रहे हैं।

बता दें कि भाजपा ने यह पोस्टर दिल्ली के रामलीला मैदान की तरफ जाने वाले सभी सड़कों और चौराहों पर लगाए हैं। इस पोस्टर और बैनर के माध्यम से विपक्षी दलों की इस महारैली पर तंज कसा गया है। भाजपा ने दो पोस्टर जारी किए हैं। पोस्टर में एक तरफ भ्रष्टाचार के मामलों में जेल में बंद कई लोगों को दिखाया गया है, वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भ्रष्टाचार पर वार करने की बात कहते हुए दिखाया गया है।

भाजपा ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर इस पोस्टर को जारी करते हुए विपक्ष की इस रैली को भ्रष्टाचारी पार्टियों और नेताओं का गठजोड़ करार दिया। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अब भाजपा का यह पोस्टर वायरल हो रहा है। इस पोस्टर पर यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं।