लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार संपन्न, पीएम मोदी, मनमोहन सिंह समेत अन्य दिग्गजों ने मांगे वोट

0
25

नई दिल्ली, 30 मई (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण के लिए चुनाव प्रचार गुरुवार शाम समाप्त हो गया। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव का प्रचार भी थम गया है। सातवें और अंतिम चरण में 57 सीटों पर 1 जून को मतदान है। इस चरण में 8 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से 904 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इस चरण के बाद 4 जून को नतीजों की घोषणा की जाएगी।

सातवें चरण के लिए एक संसदीय क्षेत्र में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की औसत संख्या 16 है। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन पीएम नरेंद्र मोदी ‘ध्यान’ लगाने कन्याकुमारी पहुंच चुके हैं।

अंतिम दौर में जो उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, उनमें वाराणसी से प्रधानमंत्री मोदी भी शामिल हैं। हिमाचल की मंडी सीट से अभिनेत्री कंगना रनौत भाजपा की उम्मीदवार हैं। इस सीट से उनके खिलाफ कांग्रेस के विक्रमादित्य सिंह मैदान में हैं।

पश्चिम बंगाल से ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी महासचिव अभिषेक बनर्जी भी सातवें चरण में उम्मीदवार हैं। पंजाब में कांग्रेस प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी चुनाव लड़ रहे हैं। बिहार में भोजपुरी कलाकार पवन सिंह, ऊर्जा मंत्री आरके सिंह मैदान में हैं। इसके अलावा मिर्जापुर से अनुप्रिया पटेल, चंदौली से महेंद्रनाथ पांडेय और हमीरपुर लोकसभा सीट से अनुराग ठाकुर चुनाव लड़ रहे हैं।

सातवें एवं आखिरी चरण में बिहार की 8 सीटों पर लोकसभा चुनाव होना है। इसके अलावा चंडीगढ़ की 1 और हिमाचल प्रदेश की चारों संसदीय सीटों पर मतदान होना है। इनके अलावा झारखंड की 3, ओडिशा की 6 और पंजाब की सभी 13 सीटों पर भी सातवें और अंतिम चरण में ही मतदान होना है।

इस चरण में उत्तर प्रदेश की 13 और पश्चिम बंगाल की 9 सीटों पर भी मतदान होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा चुनाव के लिए देशभर में पिछले 75 दिनों में 206 चुनावी रैलियां, रोड शो एवं चुनाव से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रम और 80 से ज्यादा मीडिया साक्षात्कार दिए हैं।

अंतिम चरण में पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह ने मतदाताओं से कांग्रेस के पक्ष में मतदान की अपील की। पंजाब में वोटिंग से ठीक पहले मनमोहन सिंह ने कहा कि कांग्रेस ही देशवासियों का बेहतर भविष्य सुनिश्चित कर सकती है। मनमोहन सिंह ने पंजाब के मतदाताओं से अपील करते हुए कहा कि वे विकास और समावेशी प्रगति के लिए वोट दें।

उन्होंने पंजाब के मतदाताओं से शांति, भाईचारे और सद्भाव को अवसर देने की अपील की है। उन्होंने पंजाब के मतदाताओं को एक पत्र लिखा है। अपने इस पत्र में उन्होंने सशस्त्र बलों पर अग्निवीर योजना को जबरन थोपने का आरोप लगाया। उन्होंने पत्र के जरिए कहा कि बीजेपी की सोच यह है कि देशभक्ति, और सेवा का मूल्य केवल चार साल है। यह उनके नकली राष्ट्रवाद को दिखता है।