लोकसभा चुनाव : मतगणना के दौरान सोशल मीडिया पर रहेगी विशेष नजर

0
12

लखनऊ, 3 जून (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 80 लोकसभा और 4 विधानसभा सीट के उपचुनाव की मतगणना मंगलवार सुबह 8 बजे से होगी। निर्वाचन आयोग के अनुसार मतगणना केंद्र की त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। मतगणना के दौरान सोशल मीडिया पर भ्रामक खबरों पर विशेष नजर रहेगी।

इसकी जानकारी लोकभवन के सभागार में आयोजित प्रेसवार्ता में अपर मुख्य सचिव गृह दीपक कुमार और डीजीपी प्रशांत कुमार ने दी। इस दौरान सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के डायरेक्टर शिशिर सिंह भी मौजूद रहे।

अपर मुख्य सचिव गृह दीपक कुमार और डीजीपी प्रशांत कुमार ने संयुक्त रूप से बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर मतगणना स्थल पर 93,000 से अधिक पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को तैनात किया गया है। सीएपीएफ और पीएसी की कंपनियों को भी तैनात किया गया है। सोशल मीडिया पर प्रसारित भ्रामक खबरों, अफवाहों के खंडन एवं सत्यता की जानकारी कर कार्रवाई के लिए हर कमिश्नरेट और जनपद में सोशल मीडिया टीम 24 घंटे मॉनिटरिंग कर रही है।

अपर मुख्य सचिव गृह दीपक कुमार ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में बने मतगणना स्थलों की सीसीटीवी के जरिए निगरानी की जाएगी। इसके साथ ही मतगणना स्थल पर मीडिया गैलरी का भी निर्माण किया गया है। इसके प्रभारी सूचना अधिकारी होंगे, जो समय-समय पर पत्रकारों को मतगणना हॉल का भ्रमण कराएंगे।

डीजीपी ने बताया कि मतगणना स्थल की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए 81 स्थानों पर 160 उपायुक्त/अपर पुलिस अधीक्षक, 476 सहायक पुलिस आयुक्त/पुलिस उपाधीक्षक, 2,248 निरीक्षक, 12,883 उपनिरीक्षक, 20,876 महिला आरक्षी, 50,697 आरक्षी और 6,149 होमगार्ड्स को तैनात किया गया है। इसके साथ ही सीएपीएफ की 145 और पीएसी की 102 कंपनियां तैनात की गई है।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से मतगणना केंद्र की त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था है। केंद्र पर अधिकृत व्यक्ति को ही प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश करते समय प्रत्येक व्यक्ति को डीएफएमडी, एचएचएमडी द्वार, फ्रिस्किंग और चेकिंग के बाद ही प्रवेश दिया जायेगा। इस दौरान आपत्तिजनक वस्तु, सामग्री ले जाने पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए अग्निशमन, एम्बुलेंस, चिकित्सा दल एवं अतिरिक्त क्यूआरटी के साथ रिजर्व टीमों की व्यवस्था की गई है।