वामपंथियों के गढ़ बेगूसराय में भाजपा को हैट्रिक बनाने से रोकने के लिए महागठबंधन की घेराबंदी

0
10

बेगूसराय, 4 अप्रैल (आईएएनएस)। बिहार में वामपंथियों के गढ़ माने जाने वाले बेगूसराय सीट पर भाजपा ने हैट्रिक लगाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं, महागठबंधन ने इस सीट को भाजपा से छीनने को लेकर मजबूत घेराबंदी करने की योजना बनाई है। इस सीट पर एनडीए और महागठबंधन में सीधा मुकाबला होने की उम्मीद है।

एनडीए की ओर से भाजपा ने एक बार फिर अपने फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह को चुनावी मैदान में उतारा है। जबकि, महागठबंधन के तहत यह सीट भाकपा के खाते में गई है। भाकपा ने यहां से अवधेश राय को प्रत्याशी बनाया है। भूमिहार बहुल इस लोकसभा क्षेत्र में पिछले दो चुनाव से भाजपा के प्रत्याशी परचम लहराते रहे हैं। भाजपा इस चुनाव में हैट्रिक लगाने की तैयारी में है।

पिछले चुनाव में महागठबंधन में समझौता नहीं होने के कारण राजद ने भी यहां अपना प्रत्याशी उतार दिया था। उस चुनाव में भाकपा ने भाजपा को हराने के लिए काफी प्रयास किए। लेकिन, अंत में सफलता नहीं मिली। वर्ष 2014 में भोला सिंह ने पहली बार यहां भाजपा का झंडा फहराया था। इसके बाद 2019 में भाजपा के गिरिराज सिंह ने भाकपा के कन्हैया कुमार को हराया। इस चुनाव में गिरिराज सिंह को 6 लाख 92 हजार 193 वोट मिले थे, जबकि भाकपा के कन्हैया कुमार 2 लाख 6 हजार 976 वोट प्राप्त हुए थे। राजद के तनवीर हसन 1 लाख 98 हजार 233 वोट प्राप्त करके तीसरे नंबर पर रहे थे।

इस चुनाव में परिस्थितियां बदल गई हैं। इस बार गिरिराज सिंह के लिए कड़ी चुनौती मानी जा रही है, क्योंकि महागठबंधन के नेतृत्व में वाम दल के साथ कांग्रेस और राजद भी हैं। वामपंथी आंदोलन का केंद्र रहे बेगूसराय के इतिहास को देखें तो लोकसभा चुनावों में यहां सबसे अधिक कांग्रेस के प्रत्याशी जीत दर्ज करते रहे हैं। लेकिन, वामपंथी दलों से कांग्रेस को कड़ी टक्कर मिलती रही है। भाजपा के नेता इस चुनाव में हैट्रिक बनाने को लेकर आशान्वित हैं।

भाजपा नेताओं का मानना है कि प्रदेश में ही नहीं पूरे देश में विकास की गति ने जोर पकड़ी है। उन्होंने कहा कि देश की साख आज दुनिया में बढ़ी है। आज देश को नरेंद्र मोदी जैसा ही नेता चाहिए।

भाकपा नेताओं का कहना है कि बेगूसराय वामपंथी दलों की सबसे मजबूत सीटों में से एक है। बताया गया कि 18 अप्रैल को अवधेश राय नामांकन का पर्चा दाखिल करेंगे। इस मौके पर राजद के नेता तेजस्वी यादव और पार्टी के महासचिव डी. राजा भी मौजूद रहेंगे। बताया जाता है कि अन्य प्रदेशों के नेता भी यहां चुनाव प्रचार करने आएंगे। बेगूसराय में चौथे चरण के तहत 13 मई को मतदान होना है।