वाराणसी में पीएम मोदी की मात्र डेढ़ लाख के अंतर से जीत उनकी नैतिक पराजय है : अजय राय

0
6

वाराणसी, 4 जून (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव में वाराणसी से कांग्रेस उम्मीदवार अजय राय ने भाजपा उम्मीदवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डेढ लाख वोटों के अंतर से हुई जीत को उनकी नैतिक पराजय बताया । राय ने कहा कि पीएम मोदी की अपार लोकप्रियता बताई जा रही थी, बड़ी-बड़ी बातें की जा रही थी, ऐसे में मात्र डेढ़ लाख वोटों के अंतर से जीतना उनकी नैतिक पराजय है, इसे उन्हें स्वीकार करना चाहिए।

अजय राय ने कहा कि पीएम मोदी 10 साल से वाराणसी के सांसद हैं, लेकिन उन्होंने यहां विकास के नाम पर मात्र दिखावा किया है। बनारस में कोई भी ठोस काम नहीं हुआ। काम के नाम पर केवल काम का दिखावा किया गया। समय-समय पर इंवेेट का आयोजन कर यहां के लोगों को ठगने का काम किया गया। यही कारण है कि यहां की जनता ने इस बार पीएम मोदी के प्रति अविश्वास जताया और उनके जीत को अंतर को कम कर डेढ़ लाख पर पहुंचा दिया। राय ने कहा कि पीएम मोदी व भाजपा को आत्मचिंतन करना चाहिए कि आखिर जनता में उनका विश्वास क्यों घटता जा रहा है।

राय ने कहा कि पीएम मोदी व भाजपा ने संकट के समय बनारस के लोगों को अकेला छोड़ दिया था। कोरोना काल में जब लोग मर रहे थे और तड़प रहे थे, तब सत्तारूढ़ दल के लोग उनकी मदद करने को आगे नहीं आए। ऐसे में उन्होंने व कांग्रेस पार्टी के दूसरे नेता व कार्यकर्ता जनता की मदद करने, उनके घावों पर मरहम लगाने का प्रयास किया था। अपने स्तर पर लोगों को दवाएं उपलब्ध कराई, उनके लिए खाने-पीने की वस्तुओं का प्रबंध किया, उन्हें अस्पतालों में पहुंचाया। उनकी आर्थिक मदद की। लेकिन सरकार में बैठे लोग सोते रहे।

राय ने कहा कि बनारस को गुजरात मॉडल का फर्जी विकास नहीं चाहिए, बल्कि यहां बनारस के मिजाज के हिसाब विकास होना चाहिए। उन्होंनेे कहा कि इंडिया गठबंधन की सरकार बनने पर हम लोग यहां की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए विकास कार्य कराएंगे। राय ने कहा कि मोदी सरकार ने विकास के नाम पर इस इस प्राचीन शहर की धरोहरों से खिलवाड़ किया, उन्हें नष्ट किया, यह काशी की जनता का अपमान है। जनता ने पीएम मोदी की जीत का अंतर कम कर अपने अपमान का बदला ले लिया है। राय ने आरोप लगाया कि भाजपा ने बनारस की गंगा-जमुनी तहजीब को नुकसान पहुंचाया।

कांग्रेस नेता राय ने दावा किया कि केंद्र में इंडिया गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा, हमारे गठबंधन के सहयोगी बैठकर सरकार के गठन के लिए विचार-विमर्श करेंगे और जो भी उचित होगा, वह फैसला करेंगे।

राय ने कहा कि बनारस की जनता व प्रदेश के लोगों ने उन पर व उनकी पार्टी के प्रति जो भरोसा जताया है, उसके लिए वह उसका आभार जताते हैं।