विकसित भारत एंबेसडर कार्यक्रम में मोदी सरकार के कामकाज की जमकर हुई तारीफ

0
14

नई दिल्ली, 29 मार्च (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ‘विकसित भारत एंबेसडर’ कार्यक्रम में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने पिछले 10 साल में देश के विकास की पूरी रूपरेखा के बारे में बताया। उन्होंने डिजिटल इंडिया, खेलो इंडिया, अर्थव्यवस्था में तेज वृद्धि, कांग्रेस राज के घोटाले, विकास दर से लेकर नमो ड्रोन दीदी और स्टार्टअप के बारे में बातें की।

लखनऊ स्थित हयात होटल में विकसित भारत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर कई अलग-अलग संगठनों से जुड़े लोगों ने हिस्सा लिया।

अमरेन फाउंडेशन की अध्यक्ष रेणुका टंडन ने बताया कि कार्यक्रम में सूचना, कंप्यूटर के क्षेत्र में आए नए बदलावों – खासकर एआई – के बारे में जानने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि दुनिया में अपनी जगह बनाने के लिए एआई का रोल बहुत ज्यादा है। हम चाहते हैं कि एआई को लेकर यूपी के इंस्टीट्यूट भी जुड़े और युवाओं को इसका लाभ मिले। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जमीन से जुड़े हुए हैं और ऐसे में उनकी ओर से शुरू इस अभियान से चौतरफा विकास होगा। पीएम ने इन्वेस्टर्स के लिए जो काम किया है उसका फायदा मिल रहा है।

मनीष खेमका ने कहा कि यह कार्यक्रम अच्छा है। मोदी सरकार के दो कार्यकाल में जितने भी काम हुए हैं उसकी जितनी तारीफ की जाए कम है। दुनिया में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी है। उसके साथ ही हमारा कारोबार भी बढ़ा है। ऐसे में प्रधानमंत्री का जो विजन है वह साकार होता दिख रहा है। एआई को लेकर पीएम के लक्ष्य को हम भारतीय बहुत अच्छे तरीके से पूरा कर पाएंगे।

मंसूर महमूद ने कहा कि पिछले कुछ समय में हमने महसूस किया है कि ई-गवर्नेंस में काफी सुधार हुआ है। इसकी वजह से ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ बेहतर हो गया है। कारोबार में अच्छी वृद्धि हो रही है। युवा ईमानदारी से मेहनत करें तो उनके लिए बहुत मौके हैं।

मर्चेंट नेवी में सेवा दे चुके स्टॉक मार्केट ट्रेडर प्रभाष पाठक ने कहा कि आज जब हम देश के बाहर जाते हैं तो हमारा बहुत सम्मान होता है। देश में इंफ्रास्ट्रक्चर और लॉजिस्टिक्स में जो गुणवत्ता की कमी थी वह लगातार समाप्त हो रही है। आज देश में विश्व स्तरीय सुविधाएं हैं, अवसर हैं। यह बड़ा बदलाव 2017-18 के बाद से हुआ है। ऐसे में युवाओं की भागीदारी से ही भारत विकसित बनेगा क्योंकि युवा ही हमारी सबसे बड़ी पूंजी हैं।