विराट को रोकना पंजाब के लिए सबसे बड़ी चुनौती (प्रीव्यू)

0
17

धर्मशाला, 8 मई (आईएएनएस) आईपीएल 2024 में गुरुवार को पंजाब किंग्‍स अपने घर में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु का सामना करेगी। आरसीबी जीत की पटरी पर लौट आई है और धर्मशाला का मैदान विराट कोहली को खूब पसंद आता है लेकिन पंजाब किंग्स का एक गेंदबाज़ उनकी समस्‍या बढ़ाने को खड़ा है। तो चलिए इस मैच से जुड़े अहम आंकड़ों पर नज़र डालते हैं:

कोहली को रास आता है धर्मशाला

विराट कोहली धर्मशाला में अपना तीसरा टी20 खेलेंगे और आईपीएल में मात्र दूसरा। धर्मशाला कोहली को बहुत पसंद आता है और यहां पर उन्‍होंने अपने पेशेवर करियर की नौ में से छह पारियों में अर्धशतक लगाया है, जिसमें पिछले साल न्‍यूज़ीलैंड के ख़‍िलाफ़ 104 गेंद में 95 रन की पारी भी शामिल है। हालांकि सामने कगिसो रबाडा होंगे, एक ऐसे गेंदबाज़ जिन्‍होंने कोहली को 13 में से चार बार आउट किया है। वहीं पंजाब के अन्‍य गेंदबाज़ों के सामने कोहली को कोई समस्‍या नहीं होती है, जिससे वह शुरुआत में रबाडा पर रूककर बाद में रन बना सकते हैं।

पंजाब की दिक्‍कत चयन

चयन में निरंतरता और खिलाड़‍ियों के स्‍मार्ट पूल के चयन से चेन्‍नई सुपर किंग्‍स और राजस्‍थान रॉयल्‍स पिछले दो सीज़न में सबसे सफल टी20 टीम रही हैं, जहां उनका जीत का प्रतिशत 60 है। चेन्नई ने 26 तो राजस्थान ने 27 खिलाड़ी इस्‍तेमाल किए। वहीं पंजाब का संयुक्‍त रूप से सबसे कम 40 जीत का प्रतिशत है और उनहोंने खिलाड़ी भी 24 इस्‍तेमाल किए। तो इसका मतलब यह है कि पंजाब ने अपने खिलाड़‍ियों को बहुत अधिक बैक किया है और उनके पास टीम को बेहतर बनाने के लिए अन्‍य विकल्‍पों की कमी है?

आरसीबी लौटी जीत की पटरी पर

कोहली को छोड़कर आरसीबी का अन्‍य शीर्षक्रम टूर्नामेंट की शुरुआत में संघर्ष कर रहा था। शुरुआती पांच मैचों में उन्‍होंने पावरप्‍ले में नौ विकेट गंवाए और 8.46 के रन रेट से ही रन बनाए। मैच छह से उन्‍होंने विल जैक्‍स को उतारा तो उन्‍होंने छह मैचों में सात ही विकेट पावरप्‍ले में गंवाए और रन भी 11.47 के रन रेट से बनाए। पेशे से ओपनर जैक्‍स ने शीर्ष क्रम को स्‍थायित्‍व दिया, जहां पर वह तीन नंबर पर उतरे। जैक्‍स के आने से अब ग्‍लेन मैक्‍सवेल, कैमरून ग्रीन और दिनेश कार्तिक के पास खुलकर खेलने का मौक़ा होता है।

क्‍या बराड़ करेंगे कमाल

हरप्रीत बराड़ को सीएसके के ख़‍िलाफ़ अधिक गेंदबाज़ी करने का मौक़ा नहीं मिला, क्‍योंकि सीएसके ने सुनिश्‍चित किया कि मध्‍य ओवरों में बायें हाथ के बल्‍लेबाज़ मौजूद हों और सैम करन बायें हाथ के स्पिनर को गेंदबाज़ी कराने से बचें। लेकिन आरसीबी के पास शीर्ष छह में दायें हाथ के बल्‍लेबाज़ ही हैं और इस सीज़न आरसीबी ऐसी टीम है जिन्‍होंने बायें हाथ के स्पिनर के ख़‍िलाफ़ दूसरे सबसे कम रन बनाए हैं और वे बेंगलुरु में बराड़ के ख़‍िलाफ़ संघर्ष कर रहे थे। बराड़ ने वहां पर 13 रन देकर दो विकेट लिए थे। बराड़ के लिए आरसीबीउनकी पसंदीदा टीम है और वे उनके शीर्ष क्रम को बांधकर रख सकते हैं।