विश्व की छत पर विशिष्ट तिब्बती भोजन

0
32

बीजिंग, 23 मार्च (आईएएनएस)। विश्व की छत पर स्थित चीन का तिब्बत स्वायत्त प्रदेश पर्यटकों के लिए एक अति आकर्षक स्थान है। पिछले कुछ साल में तिब्बत में पर्यटन की समृद्धि के साथ विशिष्ट तिब्बती खाना पर्यटकों के बीच भी लोकप्रिय हो रहा है। अगर आपने तिब्बत आकर तिब्बती व्यंजन का ज़ायका नहीं लिया, तो आप की यात्रा अधूरी रहेगी।

तिब्बत की बहुत पुरानी परंपरागत संस्कृति है। तिब्बती खाना तिब्बती संस्कृति का एक अहम भाग है। चीन के अन्य क्षेत्रों की तुलना में तिब्बती खाने की दो बड़ी विशेषता है। एक, तिब्बती खाना खाने के लिए चॉपस्टिक की बजाय हाथ, चाकू व कलछी अधिक प्रचिलत है। दूसरा, तिब्बती व्यंजन के मुख्य पदार्थ पठारीय पशु व वनस्पतियां हैं। लंबे इतिहास में तिब्बती लोगों ने खाना पकाने की तरह-तरह की विधियां विकसित कीं। धीरे-धीरे विशिष्ट तिब्बती व्यंजन बन गये।

तिब्बती खाने में मुख्य पदार्थ याक, बकरी, सुअर व चिकन का मांस और आलू, मूली जैसी सब्जियां हैं। उनका मुख्य भोजन छिन ख यानी पठारीय जौ, चावल व गेहूं का आटा है। चीन के सछ्वांग व्यंजन के प्रभाव से कुछ तिब्बती खाने में चिली व मसाले का अधिक प्रयोग किया जाता है। तिब्बती व्यंजनों को लाल और सफेद भोजन के दो वर्गों में भी बांटा जा सकता है। लाल भोजन मांसाहार है, जबकि सफेद भोजन दुग्ध उत्पाद हैं। सर्दी में तिब्बती लोगों का मुख्य आहार लाल भोजन है और गर्मी में सफेद भोजन प्रमुख है। विशिष्ट भौगोलिक स्थिति और इतिहास के कारण तिब्बती भोजन प्रकृति व व्यावहारिकता पर अधिक ध्यान देता है।

त्सेन बा तिब्बती लोगों का मुख्य भोजन है। वह पठारीय जौ तलने के बाद बनाया गया आटा है। त्सेन बा में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं और उसे स्टोर करना भी सुविधाजनक है। त्सेन बा खाते के समय तिब्बती लोग अकसर घी चाय पीते हैं और कभी-कभी तिब्बती हॉट मीट चटनी भी खाते हैं। सूखा याक मीट एक बहुत लोकप्रिय तिब्बती भोजन है। तिब्बती शैली वाली ब्लड सॉसेज और स्टीम्ड कैटल जीभ भी तिब्बती लोगों का विशेष भोजन है। इधर कुछ साल पठार पर सब्जियों के रोपण के प्रमोशन के साथ विभिन्न सब्जियां आम तिब्बतियों की पसंद बन गयीं हैं। ल्हासा में कई शाकाहारी रेस्टोरेंट खुले हैं और उन का कारोबार दिन-ब-दिन समृद्ध हो रहा है।

तिब्बती स्वायत्त प्रदेश के फूड एंड रेस्टोरेंट व्यवसाय संघ के अध्यक्ष चु लीछुन ने मीडिया को बताया कि वे परंपरागत तिब्बती भोजन संरक्षित व विकसित करने के लिए वे फूड व रेस्टोरेंट व्यवसाय की प्रतिभाओं की तैयारी योजना लागू करेंगे और तिब्बती शैली वाले रेस्टोरेंट का समर्थन बढ़ाएंगे। वे तिब्बती भोजन संस्कृति का प्रचार करेंगे और नागरिकों व पर्यटकों की उपभोग मांग पूरी करने की सतत् कोशिश करेंगे।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)