वैश्विक विकास की महत्वपूर्ण प्रेरक शक्ति बना हुआ है चीन:आईएमएफ़

0
18

बीजिंग, 3 फरवरी (आईएएनएस)। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ़) ने हाल ही में विश्व आर्थिक आउटलुक रिपोर्ट के लिए एक अपडेट जारी की, जिसमें पिछले अक्टूबर की रिपोर्ट के आधार पर 2024 के लिए अपने वैश्विक आर्थिक विकास पूर्वानुमान को 0.2 प्रतिशत अंक बढ़ाकर 3.1 प्रतिशत कर दिया गया है। इसका मुख्य कारण है कि यह चीन, अमेरिका, कई उभरते बाजारों और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं की विकास गति को लेकर आशावादी है।

आईएमएफ़ ने अपने अपडेट में बताया कि चीन के विकास पूर्वानुमान में बढ़ोतरी पिछले साल चीन की अर्थव्यवस्था की उम्मीद से अधिक विकास गति की निरंतरता और चीनी सरकार की प्रासंगिक नीतियों की शुरूआत की प्रेरक भूमिका को दर्शाती है। कई मीडिया का मानना ​​है कि हाल ही में जारी आंकड़ों और आर्थिक प्रदर्शन से पता चलता है कि चीन अभी भी वैश्विक आर्थिक विकास के लिए एक महत्वपूर्ण प्रेरक शक्ति है।

जापान की “निक्केई एशिया” वेबसाइट ने हाल ही में एक लेख में कहा कि साल 2024 में, एशिया में उभरते बाज़ार और विकासशील अर्थव्यवस्थाएं वैश्विक आर्थिक विकास के लिए प्रेरक शक्ति बनी रहेंगी। चीन और भारत जैसी अर्थव्यवस्थाओं में वृद्धि के कारण इस क्षेत्र में विकास दर अन्य क्षेत्रों से आगे बढ़कर 5.2 प्रतिशत तक पहुंचने की उम्मीद है।

वहीं, यूरोन्यूज़ टीवी वेबसाइट पर एक लेख में यह भी बताया गया है कि उभरते बाज़ारों और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं की समग्र आर्थिक वृद्धि में अगले दो वर्षों में गिरावट आने की उम्मीद है, लेकिन, चीन का प्रदर्शन उम्मीद से बेहतर है।

गौरतलब है कि चीनी राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों से पता चलता है कि साल 2023 में चीन की जीडीपी साल 2022 की तुलना में 5.2 प्रतिशत बढ़ी।

अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय मंच की रिपोर्ट से पता चलता है कि चीन की अर्थव्यवस्था साल 2023 में वैश्विक आर्थिक विकास में 32 प्रतिशत योगदान देगी, जिससे यह विश्व आर्थिक विकास का सबसे बड़ा इंजन बन जाएगा।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)