संविधान नहीं, कांग्रेस का परिवार खतरे में है : मोहन यादव

0
15

खरगोन, 9 मई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने खरगोन संसदीय क्षेत्र के पानसेमल में आयोजित जनसभा में कहा कि संविधान खतरे में नहीं है, वास्तव में कांग्रेस का परिवार खतरे में है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी भूल गए हैं कि 10 साल से नरेंद्र मोदी की सरकार है, प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड में सबकी जान बचाई। तब, आरक्षण नहीं खत्म हुआ। अब कह रहे हैं कि आरक्षण खत्म कर देंगे। जनता सब जानती है कि तुम झूठ बोल रहे हो और अपनी सरकार बनाना चाहते हो। कांग्रेस, गठबंधन के लोग प्रधानमंत्री मोदी को गाली दे रहे हैं, क्योंकि राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, दामाद रॉबर्ट वाड्रा, सोनिया गांधी और इनके सभी साथी जमानत पर हैं। जो जमानत पर नहीं, वो जेल में हैं। कानून सबके लिए बराबर होना चाहिए। ये चुनाव कानून का पालन करने के लिए है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम मंदिरों के नाम लेते हैं, तो कांग्रेसियों के छाती में चुभते हैं। इनको भगवान के जयकारे सहन नहीं होते। अगर हम देवताओं के जयकारे नहीं बोलें, तो यह जीवन बेकार है। कांग्रेसियों के दिमाग में गंदगी घुसी हुई है। यह माताओं-बहनों को अपमानित करते हैं। इनको सबक सिखाने का समय आ गया है। इनके पूर्व मुख्यमंत्री भी ऐसे ही महिलाओं को अपमानित करते थे, चुनाव वाले दिन सबका हिसाब चुकता करेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना के कठिन काल में अस्पताल में डॉक्टर नहीं मिल रहे थे। सभी परिवहन की सुविधाएं बंद हो गई थीं। ऐसा खराब समय आया था। हमारे नेता नरेंद्र मोदी ने ऐसे खराब समय में सबके सामने आकर कहा कि जो जहां है, वहीं रुक जाए। उन्होंने लॉकडाउन लगाकर पूरे देश को बचाने की कोशिश की। राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी कहते थे कि मैं एक रुपये भेजता हूं, नीचे 15 पैसे पहुंचते हैं। उस बात के लिए आज तक उनके बेटे राहुल गांधी ने माफी नहीं मांगी। उनके शासन काल में 85 पैसे कौन खा जाता था? मोदी सरकार में सीधे बैंक अकाउंट में पैसा आता है।