सरकार ने सुशासन, न्याय के साथ विकास पर जोर दिया : राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर

0
31

पटना, 26 जनवरी (आईएएनएस)। गणतंत्र दिवस के अवसर पर शुक्रवार को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में मुख्य समारोह आयोजित किया गया। यहां राज्य के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने झंडोतोलन किया। राज्यपाल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने सुशासन एवं न्याय के साथ विकास पर जोर दिया है और सभी क्षेत्रों एवं वर्गों के विकास के लिए संकल्पित है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र आज 75वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। उन्होंने बिहारवासियों को इस मौके पर बधाई और शुभकामना देते हुए कहा कि संविधान के माध्यम से राष्ट्र के सभी नागरिकों के लिए सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय तथा विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता सुनिश्चित हुई है। संविधान के द्वारा प्रदत प्रतिष्ठा और अवसर की समानता तथा लोगों को गरिमापूर्ण जीवन उपलब्ध कराने के सिद्धान्त हमारे पथ प्रदर्शक हैं। इन्हीं के सहारे देश के सर्वांगीण विकास की परिकल्पनायें पूरी हो रही हैं।

राज्यपाल ने कहा कि राज्य सरकार ने हमेशा से सुशासन एवं न्याय के साथ विकास पर जोर दिया है और सभी क्षेत्रों एवं वर्गों के विकास के लिए संकल्पित है। राज्य में कानून का राज स्थापित है और इसे बनाये रखना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। विकसित बिहार के सात निश्चय-2 के तहत अनेक योजनाओं पर काम जारी है। वर्ष 2008 से ही राज्य में कृषि रोड मैप बनाकर कृषि विकास कार्यक्रम चलाये गये। जिससे फसलों, फलों एवं सब्जियों के उत्पादन और उत्पादकता में वृद्धि हुई। राज्य में धान, गेहूं एवं मकई की उत्पादकता पहले के मुकाबले लगभग दोगुनी हो गयी है।

राज्य में शिक्षा के विकास की चर्चा करते हुए राज्यपाल ने कहा कि हाल ही में राज्य सरकार द्वारा 2 लाख 20 हजार से अधिक शिक्षकों की बहाली की गयी है। इससे बिहार का शिक्षक प्रात्र अनुपात राष्ट्रीय औसत के बराबर पहुंच गया है। प्रदेश में सामाजिक सौहार्द एवं साम्प्रदायिक सद्भाव का माहौल कायम है। सरकार का प्रयास है कि युवाओं को ज्यादा-से ज्यादा नौकरी एवं रोजगार के अवसर मिले।

वर्ष 2020 में सात निश्चय-2 के अंतर्गत घोषणा की गयी थी कि आने वाले वर्षों में 10 लाख नौकरी एवं 10 लाख रोजगार के अवसर सृजित किये जायेंगे। इसके तहत अब तक 3 लाख 63 हजार से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरी दे दी गयी है। वर्तमान में 1 लाख 27 हजार पदों पर बहाली की प्रक्रिया जारी है। सरकार की कामना है कि समाज में सद्भाव एवं भाईचारा का वातावरण कायम रहे। हमारा राज्य प्रगति के पथ पर अग्रसर रहे।

–आईएएनएस

एमएनपी/एबीएम