सरयू में वाटर मेट्रो से सफर, जलविहार में नहीं रहेगी कोई कसर

0
27

अयोध्या, 27 जनवरी (आईएएनएस)। रामनगरी अयोध्या को एक और सौगात मिल रही है। अयोध्या आने वाले श्रद्धालु और पर्यटक अब सरयू नदी में वाटर मेट्रो के जरिए जलविहार का आनंद ले सकेंगे। अयोध्या में पर्यटन को समृद्ध करने और जल पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए वाटर मेट्रो का संचालन संत तुलसीदास घाट से गुप्तार घाट तक किया जाना है।

दोनों प्वाइंटों पर भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण, पत्तन पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय ने सरयू किनारे जेटी की स्थापना की है, जहां पर वाटर मेट्रो के चार्जिंग के लिए बाकायदा प्वाइंट बनाए गए हैं और यहीं से यात्री वाटर मेट्रो पर सवार होंगे।

वाटर मेट्रो परिचालन से जुड़े अशोक सिंह ने बताया कि सरयू के किनारे संत तुलसी घाट से अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस वाटर मेट्रो करीब 14 किलोमीटर का सफर गुप्तार घाट तक तय करेगी, जिसमें एक साथ लगभग 50 यात्री जलविहार का आनंद उठा सकेंगे। पर्यावरण का ध्यान रखते हुए इस वाटर मेट्रो का संचालन किया जाएगा। वाटर मेट्रो में 50 सीटें हैं। मेट्रो पूरी तरह एयर कंडीशन होगी।

वाटर मेट्रो का नाम कैटा मेरन वैसेल बोट है। इसमें यात्रियों की जानकारी के लिए डिस्प्ले भी लगाया गया है। यात्रियों की केबिन के आगे बोट पायलट का केबिन अलग बनाया गया है। एक बार में चार्ज होकर वाटर मेट्रो बोट एक घंटे की यात्रा करने मे सक्षम है। किसी भी आपात स्थिति में बोट में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम हैं।

–आईएएनएस

विकेटी/एबीएम