हिंदुओं को हिंसक बताने पर पूर्व सैनिक विकास संघ ने किया राहुल गांधी का विरोध

0
7

महेंद्रगढ़, 10 जुलाई (आईएएनएस)। महेंद्रगढ़ में पूर्व सैनिक विकास संघ ने बुधवार को लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी द्वारा हिंदुओं को हिंसक बताए जाने को लेकर कड़े शब्दों में विरोध जताया है। उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म सभी धर्मों को साथ लेकर चलने वाला धर्म है, वह हिंसक नहीं हो सकता। उन्होंने यादव धर्मशाला में एक प्रेस कान्फ्रेंस आयोजित कर हिंदुत्व विरोधी बयानबाजी और गतिविधियों के खिलाफ विरोध जताया।

इस मौके पर पूर्व सैनिक विकास संघ के प्रधान सेवानिवृत्त सूबेदार रामस्वरूप ने कहा कि संसद के बाहर और भीतर हिंदुत्व के खिलाफ जो हो रहा है, इसको लेकर पूर्व सैनिकों में रोष है। ऐसे लोगों को या तो देश का कोई ज्ञान नहीं है, या फिर वो देश हित में सोचते नहीं हैं। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले झारखंड में एक स्थान पर एक मेयर द्वारा हिंदू विरोधी शपथ दिलाई गई। शपथ में कहा गया कि वो हिंदू देवी-देवताओं का सम्मान नहीं करेंगे, या पूजा पाठ नहीं करेंगे। ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

सेवानिवृत सूबेदार मेजर युद्धवीर सिंह ने बताया कि देश में हिंदू विरोधी ताकतें देश को तोड़ने का काम कर रही हैं, वो इस प्रकार की बयानबाजी कर देश में गृहयुद्ध कराना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने संसद में हिंदुओं को हिंसक बताया, सैनिक विकास बोर्ड उनकी कड़े शब्दों में निंदा करता है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की अग्निवीर योजना देश हित की योजना है। पूर्व विदेश मंत्री जॉर्ज फर्नांडिज का कहना था कि युद्ध होने पर देश को ढाई मोर्चों पर लड़ना पड़ेगा। चीन और पाकिस्तान के अलावा देश के अंदर जो आधा मोर्चा है, उससे भी लड़ाई लड़नी होगी। लेकिन अब तीन मोर्चा हो गए हैं। बांग्लादेश और नेपाल भी एक अलग मोर्चा बनता जा रहा है। तीनों बॉर्डर पर सेना लड़ लेगी, लेकिन देश के अंदर जो विरोधी ताकते हैं, उस आधे मोर्चे पर कौन लड़ेगा? उस आधे मोर्चे पर अग्निवीर ही लड़ेंगे। उन्होंने बताया कि कई देशों में अलग-अलग नामों से ये योजना चलाई गई है। बहुत से देशों में मिलिट्री ट्रेनिंग को अनिवार्य किया हुआ है। उन्होंने कहा कि अग्निवीर योजना का वो पूर्ण रूप से समर्थन करते हैं।