हिमाचल में दुख की सरकार, पीएम मोदी ने देश को विकास की ऊंचाई पर पहुंचाया : मीनाक्षी लेखी

0
13

शिमला, 5 मई (आईएएनएस)। भाजपा की वरिष्ठ नेत्री मीनाक्षी लेखी ने यहां रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा रिपोर्ट कार्ड लेकर जनता के बीच में गई है। वहीं, कांग्रेस पिछले 16 महीने का रिपोर्ट कार्ड नहीं दिखा पा रही है। प्रदेश में सुख की नहीं, दुख की सरकार है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में 2014 का पूरा बजट करीब 57 करोड़ था, जो आज करीब 59 करोड़ पहुंच गया। इससे साफ है कि हिमाचल प्रदेश को केंद्र से कितना पैसा आया है, क्योंकि यह सारा बजट केंद्र आधारित होता है। सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू से निवेदन है कि बजट बनाना महिलाओं से सीख ले, हम घर चलना भी जानते हैं और सरकार चलाना भी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले 10 वर्षों में भारत को विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया है। सभी क्षेत्रों में बदलाव दिखाई दे रहा है। 2004 से 2014 में जब केंद्र में यूपीए सरकार और 2014 से 2024 की सरकार में दो युगों को देखा जा सकता है। एक युग को विनाश काल की दृष्टि से और दूसरे को अमृत काल के युग से देखा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार में भारत सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। आज दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था भारत ने 2021 और 2022 में दो वर्षों की मजबूत आर्थिक वृद्धि के बाद 2023 में भी अपनी निरंतर एवं तेज रफ्तार को कायम रखा है। भारत 2030 तक 7.3 लाख करोड़ डॉलर की जीडीपी के साथ जापान को पीछे छोड़कर दुनिया की तीसरी और एशिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

उन्होंने कहा कि नल-जल योजना के जरिए 2014 तक 3.2 करोड़ घरों में पानी पहुंचाया गया था और 2024 में 12.7 करोड़ घरों तक पानी पहुंचाया गया। ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत 2014 तक देश में 1.79 करोड़ घरों का निर्माण हुआ। वहीं, 2024 तक इन घरों को संख्या 2.9 करोड़ पहुंच गई है। उज्ज्वला योजना के अंतर्गत देश में 2023 तक 9.6 करोड़ घरों तक मोदी सरकार ने गैस कनेक्शन पहुंचाने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में जो सरकार चल रही है, वह सुख की सरकार नहीं, दुख की सरकार है। हिमाचल सरकार बदले की भावना से काम कर रही है। भाजपा सरकार ने हिमाचल प्रदेश में कई जन कल्याणकारी योजनाएं चलाई और उन योजनाओं को कांग्रेस सरकार बंद करने की कोशिश कर रही है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल में स्वास्थ्य सुविधा लगातार चरमरा रही है। हिमाचल प्रदेश में हिमकेयर योजना और आयुष्मान भारत योजना के तहत 278 अस्पताल पंजीकृत हैं। मुख्यमंत्री हिमकेयर योजना के तहत पिछले तीन साल में 4.85 लाख लोगों से ज्यादा का इलाज किया गया है। नवंबर 2023 तक 78 हजार 365 नए कार्ड भी बने थे। ऐसे में इस योजना का लाभ लोगों का न मिलने पर अब हिमाचल में स्वास्थ्य सुविधाएं चरमरा गई है।

उन्होंने कहा, “हम दावे के साथ कह सकते हैं कि कांग्रेस की सरकार ने हिमाचल प्रदेश में एक भी विकास कार्य नहीं किया है। यही कारण है कि वह जनता के बीच में जाकर लोकसभा चुनाव के लिए वोट नहीं मांग का रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार कुप्रबंधन के लिए जानी जाएगी। 16 महीने के कार्यकाल में इस सरकार ने 25000 करोड़ रुपये का लोन लिया है, ऋण लेने में तो इस सरकार ने पूर्व के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। भाजपा सरकार ने 2012 से 2017 के बीच केवल 17829 करोड़ का लोन लिया था।

हिमाचल सरकार पर महिला विरोधी होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस को केवल झूठ बोलना आता है। जनता एवं महिलाओं को गुमराह करना आता है। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस गारंटी लेकर आई थी कि पहली कैबिनेट में हम महिलाओं को 1500 रुपये प्रति महीना देने का प्रस्ताव पारित करेंगे जो अब तक नहीं मिला।