अखिलेश ने सैफई में खेली फूलों की होली, बोले – जब भाजपा हटेगी, तभी हमारा संविधान बचेगा

0
14

इटावा, 25 मार्च (आईएएनएस)। सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के बगैर सोमवार को उनके पैतृक गांव सैफई में सपा मुखिया अखिलेश यादव ने अपने परिवार के साथ होली खेली। इस दौरान लोग बड़ी संख्या में जुटे। इस मौके पर अखिलेश ने मंच से भाजपा पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि जब भाजपा हटेगी, तभी हमारा संविधान बचेगा।

अखिलेश यादव ने कहा कि आने वाले लोकसभा चुनाव आने वाले भविष्य का भी चुनाव है। आने वाली पीढ़ी के भविष्य का चुनाव है। एक तरफ संविधान को बचाने वाले लोग हैं तो दूसरी तरफ वे लोग हैं जो संविधान को खत्म करके बैठे हुए हैं। जब भाजपा हटेगी, तभी हमारा संविधान बचेगा। उन्‍होंने कहा, हम लोगों को कई रंग पसंद हैं, लेकिन कुछ लोगो को सिर्फ एक रंग ही पसंद है। हमारा लोकतंत्र तब मजबूत होगा, जब बहुरंगी रंग में होगा। हम लोगो की जिम्मेदारी वोट डालने से लेकर वोट डलवाने तक की है, जो लोकतंत्र में हमारा अधिकार है, कही वो भी ये लोग छीन ना लें।

सपा प्रमुख ने कहा कि जो कारखाने उत्तर प्रदेश में लगने थे, वे गुजरात मे लगा दिए गए हैं। उन्‍होंने कहा कि ईडी-सीबीआई के जरिए कमाई हफ्ता-वसूली है।

वहीं, शिवपाल ने मंच से कहा कि होली के साथ-साथ चुनाव में भी लगना है। इसी तरह से शोर मचाते रहे तो किसी की बात नही सुनोगे और तब सफलता नही मिलेगी।

सांसद डिंपल यादव ने होली की शुभकामनाए देते हुए अपने संबोधन में कहा “आप सभी कार्यकर्ताओं ने जो जीत दिलाने का वचन लिया है, उसेे पूरा करने का दायित्व निभाएं। असली शक्ति आप सबके हाथों में है, आप सभी देश की दिशा को बदलने का अधिकार है। मुझे पूरा विश्‍वास है कि आने वाले चुनाव में आप सभी लोग भाजपा को हटाने में सहयोग करेंगे।”

सैफई में होली खेली गई। यहां फाग गायन भी किया गया। काफी संख्या में क्षेत्र से नामी ग्रामीण फाग गायन करने वाले लोग इसमें पहुंचे। नेताजी मुलायम सिंह के साथ के फाग गायन करने वाले भी मौजूद रहे। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव, राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल सिंह यादव होली मंच पर पहुंचे। यहां कार्यकर्ताओं के साथ फूलों की होली खेली गई।

ज्ञात हो कि नेताजी मुलायम सिंह यादव के बिना यह दूसरी होली है। काफी संख्या में प्रदेशभर से समाजवादी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता यहां पहुंचे।