उत्तराखंड में पहाड़ों पर बर्फबारी, मैदानी इलाकों में बारिश, देहरादून में गिरे ओले

0
15

देहरादून, 4 फरवरी (आईएएनएस)। उत्तराखंड में मौसम लगातार बदलता जा रहा है। मौसम विभाग के जारी पूर्वानुमान के अनुसार 5 फरवरी तक प्रदेश के 3000 मीटर से ज्यादा ऊंचाई वाले स्थनों पर बर्फबारी का अनुमान है। वहीं मैदानी इलाकों में गरज के साथ बारिश और ओले गिरने का भी अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग के मुताबिक, उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। चारों धामों में तापमान माइनस में है। ये बर्फ़ की सफेद चादर से ढक गए हैं। रुद्रप्रयाग में कालिशिला, चोपता तुंगनाथ, मदमहेश्वर घाटी के साथ ही चमोली जिले में हेमकुंड साहिब औली समेत हिमालय की चोटियों पर भी लगातार जोरदार बर्फबारी हो रही है।

राज्य के पहाड़ी जिलों में भारी बर्फबारी के कारण कई स्थानों पर गाड़ियों की आवाजाही बंद हो गई है। उत्तराखंड के 70 से अधिक गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है। पहाड़ की चोटियों पर दिनभर रुक-रुककर बर्फबारी का क्रम जारी है।

राज्य के मैदानी इलाकों में भी बारिश के साथ घना कोहरा है। उत्तराखंड के नैनीताल, हरिद्वार तथा ऊधमसिंह नगर जनपदों में कोहरे के चलते लोगों को काम करने में असुविधा हो रही है।

उधर, देहरादून में बारिश के साथ ओले भी गिर रहे हैं। बारिश और ओलों से अचानक तापमान में गिरावट आ गई है। लोग अपने घरों में बैठ कर ठंड से बचने के लिए अलाव का सहारा ले रहे हैं।

उत्तराखंड के अधिकतर क्षेत्रों में तापमान में 4 से 7 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई है।

उत्तराखंड मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, अगले दो दिन राज्य में मौसम का मिजाज बदला रह सकता है। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में 3,000 से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी मात्रा में बर्फबारी होगी और राज्य के मैदानी जिलों में कहीं-कहीं गरज- चमक के साथ ओलावृष्टि को लेकर मौसम विभाग ने यलो अलर्ट जारी किया है। राज्य के चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में बीते शनिवार की सुबह से धूप खिली, लेकिन दोपहर बाद बादल छा गए।

शनिवार को देर शाम बदरीनाथ, श्री हेमकुंड साहिब, औली व गौरसों में बर्फबारी हुई जिससे पूरे पहाड़ी इलाकों में शीतलहर का प्रकोप है। चमोली जिले में बदरीनाथ हाइवे हनुमान चट्टी से 3 किमी आगे बीते दिनों हुई बर्फबारी के चलते बंद हैं।