एग्जिट पोल बनाने वाले खौफ में थे : एसटी हसन

0
14

मुरादाबाद, 4 जून (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव को लेकर मतगणना जारी है। शुरुआती रुझानों में एनडीए आगे है, लेकिन 2019 की तुलना में कांग्रेस बेहतर स्थिति में नजर आ रही है। इसके बाद कांग्रेस के नेता उत्साहित दिख रहे हैं। वहीं, अब तक के रुझानों में एनडीए दूर-दूर तक 400 के आंकड़े के आसपास नजर नहीं आ रही है, जिस पर लगातार इंडिया गठबंधन के नेता तंज कस रहे हैं।

इस बीच, मुरादाबाद से सपा नेता एसटी हसन का बयान सामने आया है।

उन्होंने कहा, “हम शुरू से ही एग्जिट पोल के आंकड़े को नकारते हुए आ रहे हैं। हमने उस दिन भी एग्जिट पोल को नकारा था और आज भी नकार रहे हैं। हमने यही बात कही थी कि इस बार रिजल्ट 2004 जैसा होने जा रहा है, जब एग्जिट पोल ने दिखाया था कुछ और, हुआ था कुछ और, यह हम सभी को पता है। हमें लगता है कि एग्जिट पोल तैयार करने वालों के ऊपर भी बहुत प्रेशर था। उन्हें किसी बात का खौफ था।“

सपा नेता ने आगे कहा, “आप देख सकते हैं कि किस तरह से नरेंद्र मोदी सरकार में सभी जांच एजेंसियों और संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है। वहीं, एग्जिट पोल को तैयार करने वाले भी तो इंसान हैं। हमने उस वक्त भी एग्जिट पोल को नकार दिया था और स्पष्ट कर दिया था कि नतीजे अलग होंगे और हुआ भी। आप देखेंगे कि शाम तक नतीजे आएंगे जिसके बाद इंडिया गठबंधन की सरकार बनेगी।“

वहीं, उन्होंने इस लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रदर्शन पर भी अपनी बात रखी।

उन्होंने कहा, “मुझे पूरा विश्वास है कि समाजवादी पार्टी प्रदेश में अकेले ही 45 सीटों पर जीत का परचम लहराने जा रही है। कांग्रेस पार्टी अलग से जीत हासिल करेगी। रही बात एनडीए की तो इसका यहां पर सफाया तय है। एनडीए का सफाया अब किसी विशेष राज्य में नहीं, बल्कि पूरे देश से होने जा रहा है। लोग अब इनसे आजिज हो चुके हैं। इन लोगों के झूठे वादों से लोग परेशान हैं। नरेंद्र मोदी सरकार में लोग महंगाई और बेरोजगारी से त्रस्त हो चुके हैं। किसान परेशान हैं। ये लोग जो करें वह ठीक और जो दूसरे जो करे वो गलत।“

सपा नेता ने कहा, “बीजेपी के शासनकाल में लोकतंत्र को कुचलने का काम हुआ है, जिसे ध्यान में रखते हुए लोगों ने इस बार इंडिया गठबंधन को जिताने का काम किया है।“