कच्छतीवु द्वीप पर बोली भाजपा, अब कांग्रेस के सहयोगी ही तमिलनाडु से धोखा करने का आरोप लगा रहे हैं

0
15

नई दिल्ली, 4 अप्रैल (आईएएनएस)। कच्छतीवु द्वीप को लेकर तमिलनाडु में राजनीतिक विवाद गहराता जा रहा है। भाजपा के बाद अब विपक्षी इंडिया गठबंधन में शामिल एमडीएमके के संस्थापक वाइको ने भी आरोप लगा दिया है कि उस वक्त कांग्रेस ने हर कदम पर तमिलनाडु को धोखा दिया। भाजपा ने वाइको के इस बयान को बड़ा मुद्दा बताते हुए फिर से कांग्रेस पर हमला बोला है। भाजपा ने कहा है कि कच्छतीवु द्वीप श्रीलंका को देने के मुद्दे पर अब कांग्रेस के सहयोगी ही उस पर तमिलनाडु के साथ धोखा करने का आरोप लगा रहे हैं।

भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेम शुक्ल ने पार्टी मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए कहा कि पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री ने जब कच्छतीवु द्वीप के संदर्भ में बयान दिया था तो उस समय कांग्रेस पार्टी के तमाम नेता प्रलाप कर रहे थे। लेकिन अभी कल ही कांग्रेस के नेतृत्व वाले इंडी गठबंधन में शामिल नेता वाइको ने तमिलनाडु में एक बयान दिया है, जिसमें उन्होंने कच्छतीवु द्वीप के मुद्दे पर कहा है कि कांग्रेस ने तमिलनाडु के साथ धोखा किया है, दगा दिया है।

भाजपा प्रवक्ता ने आगे कहा कि अब स्वाभाविक तौर पर कांग्रेस के बारे में उनके गठबंधन के साथी ही कह रहे हैं कि कांग्रेस ने तमिलनाडु को दगा देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि वे तो कहते हैं कि कांग्रेस ने सिर्फ तमिलनाडु ही नहीं बल्कि पूरे देश के लोगों को धोखा देने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कच्छतीवु द्वीप जैसे महत्वपूर्ण द्वीप को सिर्फ एक चट्टान बताकर सहजता से श्रीलंका को सौंप दिया, जिसका खामियाजा तमिलनाडु के मछुआरों को आज तक भुगतना पड़ रहा है। डीएमके और कांग्रेस ने मिलकर तमिलनाडु को धोखा देने का काम किया था। अब जब उनके सहयोगी ही तमिलनाडु को धोखा देने का आरोप लगा रहे हैं तो कांग्रेस और डीएमके नेताओं एवं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री को भी इसका जवाब देना चाहिए। भाजपा यह जानना चाहती है कि तमिलनाडु के लोगों को धोखा क्यों दिया गया और अब जब उनके सहयोगी ही यह आरोप लगा रहे हैं तो उन्हें आगे आकर इन आरोपों का जवाब देना चाहिए।

वहीं गौरव वल्लभ द्वारा कांग्रेस से इस्तीफा देने के अपने पत्र में सनातन विरोध को लेकर लगाए गए आरोपों के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि जो गौरव वल्लभ आज कह रहे हैं, वही बात सोनिया गांधी द्वारा बनाई गई एके एंटनी की कमेटी ने भी कहा था। कांग्रेस शुरू से ही सनातन विरोधी रही है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी अपनी ही पार्टी के नेताओं को अपनी बात समझा नहीं पा रहे हैं।

गौरव वल्लभ वाले प्रसिद्ध जीरो के डिबेट को याद करते हुए सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि राहुल गांधी के साथ जो भी समझदार व्यक्ति रहेगा, उसे जल्द ही जीरो का मतलब समझ आ जाएगा और लगता है कि गौरव वल्लभ को भी अब यह समझ आ गया है।

संजय सिंह को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए उन्होने कहा कि वे जेल के अंदर बीमार थे और बाहर आकर दहाड़ रहे हैं। केजरीवाल बाहर स्वस्थ थे और उनके अंदर जाने के बाद कई बातें कही जा रही हैं। जनता यह सब देख रही है और गुण-दोष के आधार पर निर्णय लेगी।