केंद्रीय कैबिनेट में मुस्लिम मंत्री नहीं बनाए जाने पर तेजस्वी यादव ने कसा तंज

0
10

पटना, 11 जून (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने मंगलवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल में किसी भी मुस्लिम सांसद को शामिल नहीं किए जाने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि सबको साथ लेकर चलना चाहिए, चाहे उनकी धर्म या जाति कुछ भी हो। सभी का सम्मान होना चाहिए।

पटना में पत्रकारों से चर्चा के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि इन लोगों को उन लोगों से घृणा तो है ही। सब लोग यह बात को जानते हैं। सबको साथ लेकर चलना चाहिए, चाहे धर्म या जाति कुछ भी हो। सभी का सम्मान होना चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एक बात तो तय हो गई है कि इस बार पीएम मोदी बहुत कमजोर प्रधानमंत्री साबित होंगे। देश की जनता ने इस बार भाजपा को नकार दिया है और 240 सीट पर ले आई। जनता ने एक संदेश दिया है। हम विपक्ष के तौर पर मजबूती से उभरे हैं। सत्ता पक्ष और विपक्ष में ज्यादा सीटों का अंतर नहीं है।

लालू यादव के जन्मदिन पर उन्होंने कहा कि आज देश और प्रदेश के लोग बधाई दे रहे हैं। हम लोग यही चाहते हैं कि आगे भी वे ऐसे ही जनता की सेवा में लगे रहें। उन्हें सभी लोग गरीबों का मसीहा मानते हैं।

इससे पहले सोमवार को भी तेजस्वी यादव ने मंत्रिमंडल में शामिल बिहार के लोगों को बड़ा विभाग नहीं दिए जाने पर केंद्र सरकार पर जोरदार निशाना साधा था। तेजस्वी यादव ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा था कि बहुत चर्चा हो रही थी कि यह विभाग, वह विभाग मिलेगा। लेकिन, आखिरकार बिहार के मंत्रियों को ‘झुनझुना’ थमा दिया गया। बिहार इस बार सरकार में निर्णायक भूमिका में है। नीतीश कुमार चाहें तो इस बार बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिल सकता है। जातीय गणना और आरक्षण की सीमा 75 प्रतिशत तक बढ़ाने की मांग को भी आगे बढ़ाना चाहिए।