दिल्ली के लिए उनके कप्तान पंत होंगे सबसे अहम हथियार

0
11

नयी दिल्ली, 19 अप्रैल (आईएएनएस)आईपीएल 2024 के 35वें मुक़ाबले में दिल्ली कैपिटल्स का सामना सनराइज़र्स हैदराबाद से दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में शनिवार को होगा। यह इस साल दिल्ली में पहला मैच होगा, इससे पहले दिल्ली ने अपने दो घरेलू मैच विशाखापत्तनम में खेले थे।

अंक तालिका की बात करें तो दिल्ली की टीम सात मैचों में तीन जीत और छह अंकों के साथ छठे स्थान पर है, वहीं हैदराबाद की टीम छह में से चार जीत और आठ अंकों के साथ शीर्ष चार में है। दोनों टीमें अपना पिछला मुक़ाबला जीतकर आ रही हैं और इस मुक़ाबले में भी वे जीत की लय को बरक़रार रखना चाहेंगी। आइए डालते हैं इस मैच के कुछ प्रमुख आंकड़ों और मैच-अप्स पर नज़र:

हैदराबाद की टीम 12-10 से आगे

अब तक दोनों टीमों के बीच कुल 23 आईपीएल मुक़ाबले हुए हैं, जिसमें हैदराबाद की टीम 12-10 से आगे है, जबकि एक मैच सुपर ओवर में दिल्ली ने जीता था। वहीं दिल्ली में दोनों टीमों के बीच छह मुक़ाबले हुए हैं, जिसमें भी हैदराबाद 5-1 से आगे है। इसका मतलब है कि दिल्ली को अपने होमग्राउंड का लाभ नहीं मिला है। हालांकि 2021 से दोनों टीमों के बीच हुए पांच मुक़ाबलों में दिल्ली की टीम 3-1 से आगे है, जबकि एक मैच सुपर ओवर में भी उन्होंने जीता था।

पंत को कौन रोकेगा?

दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत शानदार फ़ॉर्म में हैं और हैदराबाद के ख़िलाफ़ वह इसे जारी भी रख सकते हैं। पंत हैदराबाद के लगभग हर गेंदबाज के ख़िलाफ़ तेज़ी से रन बनाते हैं। भुवनेश्वर के खिलाफ़ तो उनका स्ट्राइक रेट 240 का है, जबकि भुवनेश्वर उन्हें सात पारियों में सिर्फ़ एक बार आउट कर पाए हैं। हैदराबाद के प्रमुख स्पिनर मयंक मार्कंडेय के ख़िलाफ़ भी वह 172 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं, जबकि विपक्षी कप्तान पैट कमिंस के ख़िलाफ़ उनका स्ट्राइक रेट 127 का है। जयदेव उनादकट ने भले ही पंत को पांच में से दो पारियों में आउट किया है, लेकिन पंत उन पर भी 158 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं।

भुवनेश्वर होंगे हैदराबाद के प्रमुख हथियार

एक अर्धशतक लगाने के बाद दिल्ली के सलामी बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर का फ़ॉर्म इस साल कुछ ख़ास नहीं रहा है और उन्हें पिछले मैच में चोट के कारण बाहर भी बैठना पड़ा था। अगर वह टीम में वापस आते हैं तो भी उन्हें संघर्ष करना पड़ सकता है क्योंकि हैदराबाद के स्ट्राइक गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार के सामने वह संघर्ष ही करते नज़र आते हैं। आईपीएल में भुवनेश्वर ने बाएं हाथ के वॉर्नर को दो बार आउट किया है, जबकि वॉर्नर उन पर सिर्फ़ 67 की स्ट्राइक रेट और 14 की औसत से रन बना पाते हैं। इस दौरान वॉर्नर, भुवनेश्वर पर कोई भी छक्का नहीं लगा पाए हैं।

वॉर्नर के साथी सलामी बल्लेबाज़ पृथ्वी शॉ को भी भुवनेश्वर कुमार के सामने सतर्क रहना होगा। भुवनेश्वर ने शॉ को भी छह पारियों में दो बार आउट किया है, जबकि शॉ उन पर सिर्फ़ 17.5 की औसत और 100 के स्ट्राइक रेट से रन बना पाते हैं।

क्या क्लासेन की क्लास लगा पाएंगे दिल्ली के गेंदबाज़?

लगता तो नहीं है। आंकड़े तो कहते हैं कि क्लासेन ही इस मैच में भी दिल्ली के गेंदबाज़ों की क्लास लगाएंगे। वह मुकेश कुमार पर 230 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं, जबकि अक्षर पटेल और अनरिख़ नॉर्खिए के ख़िलाफ़ उनका स्ट्राइक रेट 171 का है। इन सबमें सिर्फ़ नॉर्खिए ही एक बार क्लासेन को आउट कर पाए हैं, हालांकि फ़िलहाल नॉर्खिए की जगह भी इस दिल्ली की टीम में नहीं बन रही है।