बसपा फाइट में नहीं है, दम तोड़ रहा है अंबेडकर, कांशीराम का मिशन : इमरान मसूद

0
17

सहारनपुर, 27 मार्च (आईएएनएस)। कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद ने सहारनपुर सीट से नामांकन भरने के बाद आईएएनएस को दिए एक इंटरव्यू में जहां बीजेपी पर जमकर हमला बोला, वहीं दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा, बसपा इस चुनाव में फाइट में नहीं है। कांशीराम, बाबासाहेब का मिशन अब दम तोड़ रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि मेरे रोम-रोम में कांग्रेस है, जिस तरह से संविधान को खत्म किया जा रहा है, उसके खिलाफ यह चुनाव बहुत निर्णायक है।

उन्होंने कई मुद्दों पर आईएएनएस से खास बातचीत की, पेश है इसके कुछ अंश :

सवाल- अब आपकी घर वापसी हुई है, तो ऐसे में आप इस चुनाव को कैसे देखते हैं ?

जवाब- यह चुनाव बिल्कुल जीत का चुनाव है। इसमें कोई डाउट नहीं है। देश के अंदर संविधान बचाने का चुनाव है। देश के अंदर लोकतंत्र बचाने का चुनाव है और संविधान के रक्षक के रूप में इंडिया गठबंधन सबसे मजबूती के साथ खड़ा है और इंडिया गठबंधन जीत की ओर आगे बढ़ेगा।

सवाल – बीजेपी आपके विवादित बयानों पर हमलावर रहती है?

जवाब- क्या बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं है? बीजेपी रोजी रोटी की बात क्यों नहीं करती है। बीजेपी रोजी की बात करे। रोटी की बात करे। बीजेपी इधर उधर की बात ना करे। सीधी बात करे कि रोजी रोटी कैसे देंगे।

सवाल- आप टक्कर बीजेपी को मानते हैं, लेकिन आपके टारगेट पर लगातार बसपा रहती है?

जवाब- मेरे टारगेट पर बसपा कहां है? आपने बसपा का सवाल किया। मैंने तो बसपा पर कोई सवाल ही नहीं किया। मैंने तो कह दिया कि बसपा फाइट में नहीं है। आप मुझसे क्यों सवाल कर रहे हैं। मत पूछिए आप ऐसे सवाल।

सवाल- करियर के लिहाज से बात करें, तो कांग्रेस में जाना आपके लिए कितना सही है?

जवाब- देखिए, कांग्रेस मेरे रोम-रोम में है। बस, मैं इतना ही कह सकता हूं।

सवाल – आप लगातार पांच बार चुनाव हार चुके हैं?

जवाब- जब दो लड़ेंगे तो एक हारेगा और एक जीतेगा ही। राजनीति में सबसे जरूरी चीज होती है कि आप जिंदा हो राजनीति में। आपका चेहरा दिखाई दे रहा है। मेरी चर्चा आप करते हो ना। मेरी चर्चा सब पार्टी वाले करते हैं, तो मैं जिंदा हूं।

सवाल- इस चुनाव में स्थानीय मुद्दे क्या हैं?

जवाब – स्थानीय क्या और देश का क्या…सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार का है, जो कि देश का मुद्दा है। किसानों का मुद्दा है। फसलों के दाम का मुद्दा है। छोटे व्यापारियों का जीएसटी के नाम पर हो रहे उत्पीड़न का मुद्दा है। महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा है।

सवाल – आप फाइट किससे मानते हैं?

जवाब- देखिए, फाइट इंडिया गठबंधन और एनडीए के बीच हो रही है। आप यहां क्या बात कर रहे हैं। सब जगह इंडिया गठबंधन बनाम एनडीए है।

सवाल — मायावती गठबंधन में शामिल नहीं हैं। इसे आप किस तरह से देखते हैं ?

जवाब- देखिए, हमने मायावती को गठबंधन में लाने के बहुत प्रयास किए, क्योंकि जो मिशन बाबा भीमराव आंबडेकर और काशीराम ने शुरू किया था, वो मिशन अब दम तोड़ रहा है। 2007 में अपने दम पर सत्ता में आने वाली बसपा 2022 में 10 से 15 साल में पूरी तरह से वाइप आउट हो गई, यह बहुत सोचनीय प्रश्न है। इसलिए मैंने कहा कि उन्हें गठबंधन में आना चाहिए, इसलिए मैंने दलित समुदाय से कहा कि यह संविधान बचाने की लड़ाई है, जो संविधान को बदलने की बात करते हैं। ऐसे लोगों को जवाब देने का काम केवल इंडिया गठबंधन ही कर सकेगी।