भाजपा मेरी दूसरी मां के समान : सम्राट चौधरी

0
19

पटना, 29 जनवरी (आईएएनएस)। बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने साफ कहा कि मेरे लिए भाजपा दूसरी मां के समान है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि जदयू की ओर से समर्थन मांगा गया और दूत भी भेजा गया। राष्ट्रीय नेतृत्व के निर्देश के बाद प्रदेश भाजपा ने सरकार को समर्थन दिया।

भाजपा प्रदेश कार्यालय में प्रदेश में फिर से एनडीए की सरकार बनने के बाद सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन को उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी, विजय कुमार सिन्हा और मंत्री प्रेम कुमार ने संयुक्त रूप से संबोधित किया।

चौधरी ने पत्रकारों के एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि भाजपा मेरी दूसरी मां के समान है। मेरी जन्म देने वाली मां जब हम सभी को छोड़कर जा रही थी तब मैंने मुरेठा बांधा था। उस समय शीर्ष नेतृत्व ने मुझे विरोधी दल के नेता की जिम्मेदारी दी थी। उन्होंने खुद को ‘कमीटेड’ व्यक्तित्व वाला कार्यकर्ता बताते हुए कहा कि उस समय मैंने भावुकता में मुरेठा बांधते हुए कहा था कि नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद से हटाकर ही मुरेठा खोलूंगा। मैं भाजपा का सिपाही हूं और शीर्ष नेतृत्व ने जो जिम्मेदारी दी थी, उसके अनुसार निर्णय लिया।

उन्होंने कहा कि पार्टी में पूरी टीम काम करती है, ऐसे में व्यक्तिगत निर्णय को निरस्त भी किया जा सकता है। पिछले 17 महीनों से प्रदेश में लोकतंत्र शर्मसार हो रहा था। केंद्रीय नेतृत्व और प्रदेश नेतृत्व ने जदयू को समर्थन देने का निर्णय लिया। उन्होंने भरोसा देते हुए कहा कि हम सभी लोग मिलकर विकास का कार्य करेंगे। नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार के विकास को बढ़ाने और अधूरे सपने को पूरा करने का काम होगा। 2020 के जनमत के बाद जो नीतीश के नेतृत्व में सरकार बनी थी, वह फिर वापस आ गई है।

उप मुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि बिहार में जो परिवर्तन हुआ है, उससे भाजपा का शीर्षस्थ नेतृत्व पर पूरे बिहार और भाजपा के कार्यकर्ता को विश्वास है। आज ये लोग आभार व्यक्त कर रहे हैं कि बिहार को जिस रास्ते पर लेकर राजद के लोग चले थे, उससे भाजपा के शीर्षस्थ नेतृत्व ने बचा लिया। राजद की मानसिकता बिहार में अराजकता पैदा करना, सामाजिक उन्माद फैलाना, जंगलराज को गुंडाराज में तब्दील करना, अपराध, भ्रष्टाचार बढ़ाने का था। आज हमारे शीर्षस्थ नेतृत्व और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दोनों ने मिलकर यह समझा कि जनादेश सुशासन, शांति, सामाजिक सौहार्द के लिए है, इसे हमें मजबूत करना है। विकास की गति को डबल इंजन की सरकार मिलकर बढ़ाएगी।

उन्होंने कहा कि ये वातावरण बनाना है। यह अवसर पूरी तरह सेवा का है और मेवा खाने वाली मानसिकता को समाप्त करने का है।

मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि 2020 में बिहार में जनादेश एनडीए को मिला था। बीच में नीतीश कुमार अलग हो गए थे, लेकिन, अब नीतीश जी ने सही कदम उठाया है, जिसका स्वागत है। हम सभी मिलकर बिहार का विकास करने का काम करेंगे।