मेरठ से चोरी दो महीने का बच्चा मुजफ्फरनगर से बरामद, दो महिलाएं गिरफ्तार

0
7

मुजफ्फरनगर 31 मई (आईएएनएस)। यूपी के मुजफ्फरनगर जिले की सिविल लाइंस थाना पुलिस ने मेरठ से चोरी दो महीने के नवजात बच्चे को सकुशल ढूंढ निकाला। पुलिस ने बच्चे को चुराने वाली दो महिलाओं को मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार किया है। महिला ने बताया कि उसने दिल्ली निवासी एक निसंतान दंपति से दो लाख रुपये में बच्चे का सौदा किया था। इसी वजह से उसने बच्चे को चुराया था।

पुलिस के मुताबिक शुक्रवार दोपहर बाद तीन बजे मेरठ की थाना लालकुर्ती पुलिस से मुजफ्फरनगर की थाना सिविल लाइंंस पुलिस को सूचना मिली थी कि एक महिला लाल कुर्ती पैंठ बाजार से बच्चा चोरी कर भाग गयी है। उसकी लोकेशन मुजफ्फरनगर के आसपास आ रही है।

सिविल लाइंस थाना प्रभारी ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि सूचना पर पुलिस ने लालकुर्ती थाना पुलिस से प्राप्त मोबाइल फोन नम्बर को ट्रेस किया। इसके आधार पर पुलिस ने महिला को ढूंढ निकाला। पुलिस ने महिला को मुजफ्फरनगर न्यायालय परिसर से गिरफ्तार किया। महिला की निशानदेही पर बच्चे को उसकी बहन के घर से सकुशल बरामद कर लिया।

एसएचओ ने कहा कि, मामले में गिरफ्तार महिलाओं की पहचान सहारनपुर के गांव राजूपुर निवासी मीनू उर्फ राधा पत्नी कुलदीप और मुजफ्फरनगर के उत्तरी रामपुरी निवासी अनीता पत्नी प्रदीप रूप में हुई है।

एसएचओ ने कहा कि पुलिस की पूछ्ताछ में मीनू ने बताया कि वे दोनों बहने हैं। उनकी बच्चे की मां अंकिता से लगभग पांच साल पहले जान-पहचान हुई थी। अंकिता अपनी मां के घर रजबल सदर बाजार, मेरठ आयी हुई थी। इसी दौरान उसने अंकिता से संपर्क किया तथा उसके घर चली गयी। शुक्रवार को बच्चे को कपडे़ दिलाने के बहाने वह अंकिता व उसके बच्चे के साथ लाल कुर्ती पैंठ बाजार गयी थी। अंकिता को बातों में फंसाकर उसका बच्चा अपनी गोद में लिया और वहां से भाग कर मुजफ्फरनगर अपनी बहन के घर आ गयी।

मीनू ने बताया कि मेरी बहन पूरी साजिश में शामिल थी। हम दोनों ने मिलकर यह बच्चा दिल्ली निवासी निसंतान दंपति को दो लाख रुपये में बेचने के लिए चोरी किया था।

एसएचओ ने कहा कि बच्चे को उसके माता-पिता को सौंप दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

—आईएएनएस

विमल कुमार/सीबीटी