सत्ता से बेदखल हो रही भाजपा, देश के लोग उनसे नफरत करते हैं : राशिद अल्वी (आईएएनएस साक्षात्कार)

0
6

नई दिल्ली, 12 मई (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव के ‘रण’ में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो चुकी है। आए दिन नेताओं के बीच जुबानी जंग देखने को मिल रही है। इसी बीच आईएएनएस ने कांग्रेस नेता राशिद अल्वी से खास बातचीत की है। इस दौरान उन्होंने बड़ी बेबाकी से तमाम सवालों के जवाब दिए हैं।

सवाल :- अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को एक रोड शो के दौरान कहा कि आने वाले समय में पीएम मोदी प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे, उन्होंने पार्टी में एक अंदरूनी कलह बताई है, आप क्या कहेंगे?

जवाब :- भाजपा की सरकार ही नहीं बन रही है तो यह सवाल ही नहीं उठता कि कौन प्रधानमंत्री बनेगा और कौन प्रधानमंत्री नहीं बनेगा। यह सवाल तो तब बनता है, जब आप सत्ता में आ रहे होते हैं। देश के लोग भाजपा से नफरत करते हैं, सत्ता में अगर आते तब यह सवाल उठता, इसलिए, सवाल ही नहीं है कि कौन प्रधानमंत्री बनेगा।

सवाल :- अधीर रंजन चौधरी का एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में वह कह रहे हैं कि अगर हमें पैसे भेज देते तो हम अडाणी-अंबानी के खिलाफ नहीं बोलते। आपकी राय?

जवाब :- यह अधीर रंजन की अपनी सोच हो सकती है कि वो किस पर बोलें और किस पर खामोश रहें।

सवाल :- क्या प्रियंका गांधी को केवल रायबरेली और अमेठी तक बांधकर रखा गया है। भाजपा का आरोप है कि राहुल गांधी उन्हें आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं।

जवाब :- भाजपा को इससे क्या परेशानी है कि प्रियंका गांधी रायबरेली और अमेठी देख रही हैं। हमने तो भाजपा के किसी नेता पर सवाल नहीं उठाया कि कौन किस लोकसभा क्षेत्र को देख रहा है। उन्हें डर है इसलिए इस तरीके का बयान दे रहे हैं।

सवाल :- दिल्ली में राहुल और प्रियंका के साथ अन्य सीनियर नेता प्रचार करने के लिए नहीं उतर रहे हैं, ऐसा क्यों?

जवाब :- दिल्ली का चुनाव बहुत आगे है, 25 तारीख को है। अभी तो बहुत वक्त है, अभी तो पूरे देश में घूमेंगे और फिर दिल्ली में भी चुनाव प्रचार करेंगे।

सवाल :- केसीआर ने कहा है वह पीएम पद की रेस में हैं। ममता के समर्थक भी आवाज उठाते रहते हैं। अगर इंडिया गठबंधन सत्ता में आया तो पीएम कौन होगा?

जवाब :- उन्हें इस सवाल को उठाने की जरुरत क्यों पड़ रही है, इस पर मुझे ताज्जुब है। जो नए एमपी आएंगे, वह फैसला करेंगे, सभी पार्टियां एक साथ बैठेंगी और फिर तय होगा कि प्रधानमंत्री कौन बनेगा।

सवाल :- भाजपा कहती है कि इंडिया गठबंधन की लड़ाई बस पीएम मोदी को कमजोर करने की है। सत्ता का सपना वो देख रहे क्योंकि उनके पास कोई ऐसा चेहरा नहीं, जिस पर विपक्ष एक साथ आए?

जवाब :- सिर्फ मोदी जी को कमजोर करने का सवाल नहीं है। हम भाजपा को कमजोर कर रहे हैं, सत्ता से बाहर करना चाहते हैं। इस देश को उनकी विचारधारा से बचाना चाहते हैं। हम उनकी सत्ता की भूख से देश के संविधान और संसद को बचाना चाहते हैं।

सवाल :- पीएम मोदी ने रैली के दौरान कहा कि राहुल गांधी की उम्र से भी कम सीटें कांग्रेस को मिलेगी, इस पर आप क्या कहेंगे?

जवाब :- बड़े तकलीफ की बात है, इस चुनाव में हमारे प्रधानमंत्री कितने नीचे उतर कर बातें कर रहे हैं कि राहुल गांधी की उम्र के बराबर सीटें आएगी। अगर राहुल गांधी की उम्र से ज्यादा सीट आ गई। तब, प्रधानमंत्री माफी मांगेंगे?