हीटवेव को देखते हुए राहत कार्यों में लाएं तेजी : मुख्यमंत्री योगी

0
12

लखनऊ, 1 जून (आईएएनएस)। यूपी में भीषण गर्मी और हीटवेव को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के एक्शन में आते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। मुख्यमंत्री योगी ने हीटवेव को लेकर उच्च स्तरीय बैठक में निर्देश दिए कि संवेदनशील जिलों पर विशेष निगरानी रखी जाए और 24 घंटे में पीड़ितों को मुआवजा दिलाने का प्रबंध किया जाए।

सीएम योगी ने अधिकारियों से कहा कि हीटवेव को लेकर जनहानि और पशुहानि न हो, इसकी विशेष मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने अधिकारियों से हर हफ्ते रिपोर्ट तैयार कर मुख्यमंत्री कार्यकाल में सब्मिट करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि भीषण गर्मी को लेकर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगर किसी अधिकारी की लापरवाही सामने आती है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इस समय प्रदेश में भीषण गर्मी और हीटवेव का दौर चल रहा है। इसको देखते हुए स्वास्थ्य और राहत विभाग पहले से ही सतर्कता बरत रहा है। लोगों को दोपहर में बाहर नहीं निकलने की सलाह दी गई है।

प्रदेश में हर साल पड़ने वाली भीषण गर्मी और हीटवेव को देखते हुए विभाग की ओर से अप्रैल माह में ही एक्शन प्लान तैयार कर लिया गया था। इसके तहत प्रदेश के हर जिले में लगातार काम किया जा रहा है। इसके अलावा तहसील स्तर पर प्रदेशवासियों को हीटवेव से अलर्ट करने के लिए लगातार प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

प्रदेशवासियों को समाचार पत्रों, रेडियो, पोस्टर और लाउडस्पीकर के जरिए जागरुक किया जा रहा है। प्रदेश के अति संवदेनशील शहरों में विशेष निगरानी की जा रही है। इन शहरों में जिला प्रशासन की गठित टीम फील्ड में लगातार मुआयना कर रही है।

सभी जिलाधिकारियों को हीटवेव से होने वाली जनहानि संबंधी जानकारी तुरंत विभाग से साझा करने को कहा गया है, जिससे 24 घंटे में पीड़ित परिवार को मुआवजा दिया जा सके। प्रदेश की भौगोलिक स्थिति देखते हुए 21 तरह की जनहानि को प्राकृतिक आपदा में शामिल किया गया। हीटवेव में जनहानि पर 4 लाख के मुआवजा का प्रावधान है।