हाथरस हादसा: अजय राय ने की मृतकों के परिजनों के लिए नौकरी व एक करोड़ रुपये की मांग

0
10

लखनऊ, 4 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय ने हाथरस की घटना पर बात करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के इतिहास में सबसे दुखद और बड़ी घटना हाथरस की हुई है। मैंने इतनी बड़ी घटना नहीं देखी। हादसे में बड़ी संख्या में गरीब और अनुसूचित जाति के लोगों की मृत्यु हुई है। मैं पीड़ितों के परिवारों से मिला हूं और वहां बहुत भयावह स्थिति है। मैं अस्पताल गया लोगों से मिला। वहां कोई व्यवस्था नहीं की गई है।

अजय राय ने हादसे को प्रशासन की नाकामी करार देते हुए कहा कि जहां 80 हजार लोगों की इजाजत दी गई थी, वहां ढाई लाख लोग आ गए और उनकी सुरक्षा के लिए केवल 40 पुलिसकर्मी तैनात थे। हमारी मांग है कि मृतकों के परिजनों को नौकरी और एक करोड़ रुपये दिए व घायलों को 25 लाख रुपये दिए जाएं। उन्होंने यह भी कहा इस घटना के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने अलग-अलग जाकर साबित कर दिया है कि भाजपा में आपसी कलह है, इसका खामियाजा प्रदेश की जनता भुगत रही है।

उन्होंने आगे कहा कि, मुख्य बाबा को बचाया जा रहा है, सेवादारों का नाम आ रहा है। हम लोगों ने न्यायिक जांच की मांग की है। प्रशासन ने कैसे उस कार्यक्रम को अनुमति दी, उस पर जांच हो। सरकारी अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जानी चाहिए।

अजय राय ने कहा कि नीट में पूरा भ्रष्टाचार हुआ है। हमारी मांग है कि परीक्षा निरस्त कर फिर से कराई जाए। उत्तर प्रदेश में सिपाही की भर्ती हो रही है। गुजरात की कंपनी को उत्तर प्रदेश सिपाही भर्ती का ठेका दिया गया है। उन्होने कहा, विनीत आर्या ने पेपर लीक कराया है। जैसे मोदी जी ने नीरव व मेहुल को भगाया, वैसे ही विनीत आर्या को भी भगा दिया है। इससे पहले विनीत आर्या जेल भी चुका है। देश के प्रधानमंत्री खुद विनीत आर्या के पिता के प्रोग्राम में जाते रहे हैं।

अजय राय ने आगे कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का इन्होंने ठेका ले रखा था, वहां पर भी पूरा रामपथ ढह गया है। वहां भी गुजरात की ही कंपनी ने काम किया है। ये सभी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। अजय राय ने राहुल गांधी के बयान पर भी बात की। उन्होंने कहा कि हिंदू सर्वधर्म समभाव में यकीन करता है। हिंदू हिंसक नहीं होता, निश्चित तौर पर हम लोग सर्वधर्म समभाव की बात करते हैं। राहुल गांधी को बदनाम करने के लिए बहुत कुछ किया जा रहा है, लेकिन राहुल लोगों के दिलों में बस चुके हैं। भाजपा ने सरकारी तंत्र का पूरा दुरुपयोग करके चुनावों को जीतने की कोशिश की। अगर कोई सबसे बड़ा हिंदू विरोधी है तो वह नरेंद्र मोदी हैं। रात को लाइट बंद करके मंदिर तोड़े जाते हैं।