गौतमबुद्ध नगर के 15 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला 4 जून को, तैयारियां पूरी

0
11

नोएडा, 3 जून (आईएएनएस)। गौतमबुद्ध नगर के 15 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला 4 जून को होगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। मंगलवार सुबह 4 बजे से ही फूल मंडी के आसपास ट्रैफिक डायवर्जन लागू हो जाएगा। इसके लिए एडवाइजरी ट्रैफिक विभाग ने जारी कर दी है। इसके साथ ही फूल मंडी की अंदरूनी सड़कों पर आवाजाही पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगी। 1000 पुलिसकर्मी अलग-अलग शिफ्ट में तैनात होंगे।

गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन के मुताबिक, काउंटिंग सेंटर पर किसी को मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस लोकसभा सीट से 15 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनकी किस्मत का फैसला ईवीएम में बंद है।

नोएडा और दादरी विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना के लिए 21-21 टेबल लगाए जाएंगे और जेवर में 14 टेबल लगाए जाएंगे। नोएडा विधानसभा के मतगणना के लिए 36 और दादरी विधानसभा के मतों की गणना के लिए 34 चरण होंगे।

इसके अलावा जेवर के मतों की गणना 29 चरण में होगी। खुर्जा और सिकंदराबाद विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना 31-31 चरण में होगी।

जिला प्रशासन के मुताबिक, सबसे पहले जेवर विधानसभा के मतों की गणना समाप्त होगी। गौतमबुद्ध नगर में 15 प्रत्याशियों की लिस्ट में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी डॉ महेंद्र नागर, बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी राजेंद्र सिंह सोलंकी, भारतीय जनता पार्टी के डॉक्टर महेश शर्मा समेत नेशनल पार्टी के प्रत्याशी किशोर सिंह, निर्दलीय प्रत्याशी महकार सिंह, मनीष कुमार द्विवेदी अखिल भारतीय परिवार पार्टी, भारतीय राष्ट्रीय जनसत्ता पार्टी के नरेश नौटियाल, जय हिंद नेशनल पार्टी के राजीव मिश्रा, लोकतांत्रिक जनशक्ति पार्टी की कुमारी शालू, सुभाष पार्टी के नर्वदेश्वर, वीरों के वीर इंडिया पार्टी के भीम प्रकाश जिज्ञासु, सुपर पावर इंडियन पार्टी के रण सिंह डुडी, निर्दलीय शिवम आशुतोष, मोहम्मद मुमताज आलम, निर्दलीय पराग कौशिक के नाम शामिल हैं।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, फूल मंडी में त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है। पहला घेरा फूल मंडी का बाहरी इलाका है जो फूल मंडी के पास किसी को भी मतगणना के दौरान आने से रोकेगा। केवल जिनके पास जिला प्रशासन के पास होंगे, उन्हें ही आने की अनुमति होगी। दूसरा घेरा फूल मंडी के अंदर होगा और तीसरा घेरा मतगणना केंद्र के अंदर होगा। मतगणना केंद्र के अंदर जाने वाले किसी भी पुलिसकर्मी को मोबाइल ले जाने की इजाजत नहीं है।