मध्य प्रदेश में चौथे चरण में 1.63 करोड़ मतदाता करेंगे 74 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला

0
7

भोपाल, 12 मई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में चौथे चरण में आठ लोकसभा सीटों पर सोमवार को मतदान होने वाला है। इन संसदीय क्षेत्रों में 1.63 करोड़ मतदाता 74 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे।

राज्य में चौथे चरण में देवास (अजा), उज्जैन (अजा), मंदसौर, रतलाम (अजजा), धार (अजजा), इंदौर, खरगोन (अजजा) एवं खंडवा में मतदान होने वाला है। मतदान के लिए कुल 18,007 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें 72,000 से ज्यादा कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। 2001 ऐसे मतदान केंद्र हैं, जिनका संचालन महिलाओं द्वारा किया जाएगा। इसके अलावा 66 मतदान केंद्र को दिव्यांग संचालित करेंगे, वहीं 946 आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

चौथे चरण की सभी सीटों पर 2019 में भाजपा ने जीत हासिल की थी। इस बार के लोकसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस ने इन सीटों पर जीत हासिल करने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। यही कारण रहा कि भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री मोहन यादव, प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रचार करने में पीछे नहीं रहे।

कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी, प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी, नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार, राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव ने प्रचार में कोई कसर नहीं छोड़ी।

चौथे चरण के चुनाव में 74 उम्मीदवार मैदान में हैं, इनमें 69 पुरुष और पांच महिलाएं हैं। इस चरण में रतलाम से पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया भी कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर मैदान में हैं। सबसे ज्यादा 14 उम्मीदवार इंदौर और सबसे कम 5 उम्मीदवार खरगोन में हैं। राज्य में लोकसभा की कुल 29 सीटें हैं। पहले तीन चरण में 21 सीटों पर मतदान हो चुका है।