18वीं लोकसभा के सांसदों के स्वागत, पंजीकरण और सहायता के लिए तैयारी पूरी

0
12

नई दिल्ली, 31 मई (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा 4 जून को होगी। इसके बाद नई लोकसभा का गठन होगा, जिसे 18वीं लोकसभा के नाम से जाना जाएगा। इस बीच लोकसभा सचिवालय ने चुनाव जीतकर आने वाले सांसदों के स्वागत, पंजीकरण और सहायता करने के लिए सारी तैयारी कर ली है।

18वीं लोकसभा के सदस्यों के स्वागत और उनके निर्बाध पंजीकरण को सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। लोकसभा के महासचिव उत्पल कुमार सिंह ने शुक्रवार को इस संबंध में की गई तैयारियों का निरीक्षण किया। कागजी कार्यवाही को कम करने और सदस्यों के पंजीकरण की औपचारिकताओं को सुगम बनाने के उद्देश्य से, नव-निर्वाचित सदस्यों का ऑनलाइन एकीकृत सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन के माध्यम से पंजीकरण किया जाएगा। सदस्यों को विभिन्न शाखाओं में निर्धारित कागजात पर हस्ताक्षर करने की आवश्यकता नहीं होगी। इससे सदस्यों का काफी समय बचेगा।

एकीकृत सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन में न केवल सांसद के बायो प्रोफाइल डेटा की प्रविष्टि की जाएगी, बल्कि, इसमें प्रविष्ट की गई फेशियल और बायोमेट्रिक जानकारी के आधार पर पहचान पत्र जारी करने के साथ ही लोकसभा सदस्यों और उनकी पत्नी या पति को सीजीएचएस कार्ड जारी किए जाने की व्यवस्था भी की गई है। कई जगहों पर जानकारी उपलब्ध कराने की जटिलता को दूर करते हुए इस बार सांसदों की सुविधा और सुगमता के लिए पंजीकरण, नामांकन, अस्थायी आवास और कई अन्य मामलों से संबंधित सभी औपचारिकताओं को कम से कम समय में पूरा करने का प्रस्ताव है।

सचिवालय ने 4 जून को दोपहर 2 बजे से पंजीकरण शुरू करने की व्यवस्था की है और यह प्रक्रिया 5 से 14 जून को सुबह 8 से रात 8 बजे तक चालू रहेगी, जिसमें शनिवार और रविवार भी शामिल हैं। इससे पहले, नवनिर्वाचित सदस्यों का पंजीकरण संसद के पुराने भवन (अब संविधान सदन) में होता था। इस बार, सचिवालय ने संसदीय सौध में यह व्यवस्था की है। संसदीय सौध में बैंक्वेट हॉल और प्राइवेट डाइनिंग रूम (पीडीआर) में 10-10 कंप्यूटर के साथ कुल 20 डिजिटल पंजीकरण काउंटर स्थापित किए गए हैं। काउंटर इंड-टू-इंड पंजीकरण प्रक्रिया के लिए स्थापित किए गए हैं।

प्रत्येक काउंटर पर डबल साइडेड स्क्रीन वाला डेस्कटॉप, प्रिंटर कम स्कैनर, बायोमेट्रिक और हस्ताक्षर प्राप्त करने के लिए एक टैब लगा हुआ है। फोटो खींचने और फेशियल रि-कॉग्निशन के लिए अलग-अलग काउंटर हैं। इसके अतिरिक्त, नवनिर्वाचित सदस्यों के लिए एसबीआई बैंक खाता खोलने, स्थायी पहचान पत्र, केंद्र सरकार स्वास्थ्य योजना कार्ड जारी करने की व्यवस्था भी की गई है।

सांसदों का स्वागत करते हुए सचिवालय प्रत्येक सदस्य को भारत के संविधान, नियम, निर्देश तथा कुछ अन्य उपयोगी प्रकाशनों की प्रतियां उपलब्ध कराएगा। इसके अलावा, कुछ अन्य प्रकाशन सदस्यों को सॉफ्ट वर्जन में उपलब्ध कराए जाएंगे। संसदीय सौध एक्सटेंशन के बैंक्वेट हॉल में सांसदों के परिवार के सदस्यों तथा अतिथियों के लिए प्रतीक्षा क्षेत्र उपलब्ध कराया गया है। अधिक संख्या में अतिथियों के आने की स्थिति में, उन्हें पास के समिति कक्ष में बैठाया जाएगा। पंजीकरण काउंटर पर तैनाती के लिए कुल 70 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया गया है, जो शिफ्ट में काम करेंगे।

प्रतीक्षा क्षेत्र (ईपीएचए भवन में बैंक्वेट हॉल) में प्रतीक्षा कर रहे सांसदों की सुविधा के लिए संपर्क अधिकारियों (एलओ) को टैब के माध्यम से डेटा प्रविष्टि करने का प्रशिक्षण दिया गया है। यह व्यवस्था संसद परिसर में आए सांसदों का पंजीकरण कम से कम समय में करने के उद्देश्य से की गई है। परिणाम की घोषणा के दिन चुनाव आयोग की वेबसाइट पर नजर रखने और सफल उम्मीदवारों के संपर्क कर उनका डिटेल तुरंत दर्ज करने के लिए एक टीम गठित की गई है।

सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन का उपयोग करने वाली टीम यह जांच सकेगी कि सफल उम्मीदवार नए सांसद हैं या फिर से निर्वाचित सांसद हैं, यह जानकारी सदस्यों के दिल्ली आगमन के कार्यक्रम की प्रविष्टि करने के लिए सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन के माध्यम से संपर्क अधिकारियों (एलओ) के साथ साझा की जाएगी। सदस्यों की सुविधा के लिए और शीघ्र जानकारी प्राप्त करने के लिए संबंधित क्षेत्र एवं भाषा जानने वाले संपर्क अधिकारियों को तैनात करने का प्रयास किया गया है। संपर्क अधिकारियों को सदस्यों, विशेष रूप से नवनिर्वाचित सदस्यों से शीघ्र संपर्क करने के लिए कहा गया है, ताकि वे उन्हें आवश्यक दस्तावेजों को लाने के बारे में जानकारी उपलब्ध करा सकें।

सदस्यों से यह भी अनुरोध किया जाएगा कि वे कुछ जानकारी या तो ईमेल के माध्यम से या हार्ड कॉपी में लोकसभा को भेजें। जिन नवनिर्वाचित सदस्यों के पास दिल्ली एवं नई दिल्ली में पहले से सरकारी आवास नहीं है, उन्हें वेस्टर्न कोर्ट एनेक्सी, हॉस्टल या राज्य, संघ राज्य क्षेत्र के भवनों, अतिथि गृहों में तब तक अस्थायी आवास प्रदान किया जाएगा, जब तक कि उन्हें लोकसभा की हाउस कमेटी द्वारा नियमित आवास प्रदान नहीं किया जाता। 18वीं लोकसभा के सदस्यों को वेस्टर्न कोर्ट एनेक्सी, हॉस्टल या राज्य, संघ राज्य क्षेत्र के भवनों, अतिथि गृहों में अस्थायी आवास के आवंटन के लिए इस बार सॉफ्टवेयर आधारित कम्प्यूटरीकृत प्रणाली लागू की गई है।

नवनिर्वाचित सदस्यों को अस्थायी आवास आवंटित करने, इसमें बदलाव करने के लिए संसद भवन परिसर में आवास डेस्क स्थापित किए गए हैं। आवास डेस्क की सेवाएं 24×7 उपलब्ध रहेंगी। 18वीं लोकसभा के निर्वाचित सदस्यों के स्वागत के लिए और उन्हें आवश्यक सहायता एवं सेवाएं प्रदान करने के लिए आईजीआई हवाई अड्डे के तीनों टर्मिनल और दिल्ली, नई दिल्ली, हजरत निजामुद्दीन और आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर 4 से 9 जून तक मार्गदर्शक पोस्ट स्थापित किए जाएंगे। हवाई अड्डों और रेलवे स्टेशन पर गाइडपोस्ट पर ड्यूटी करने के लिए लोकसभा सचिवालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा।

सदस्यों को संसद भवन परिसर, राज्य भवन, अतिथि गृहों तक ले जाने के लिए हवाई अड्डों, रेलवे स्टेशनों पर परिवहन सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी। सदस्यों को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए सीजीएचएस चिकित्सा पोस्ट नॉर्थ एवेन्यू और साउथ एवेन्यू और टेलीग्राफ लेन में वेस्टर्न कोर्ट एनेक्सी, हॉस्टल के पास 24×7 आधार पर काम करेंगी। इसके अलावा, एम्बुलेंस सेवाएं भी 24×7 उपलब्ध रहेंगी। किसी भी चिकित्सा आपातस्थिति, अचानक बीमार होने की स्थिति में, सदस्यों को सहायता उपलब्ध कराने के लिए नजदीकी अस्पतालों को भी सूचित कर दिया गया है।