उत्तराखंड में सभी पांच सीटों पर वोटों की गिनती शुरू

0
7

देहरादून, 4 जून (आईएएनएस)। मंगलवार को लोकसभा चुनाव 2024 के चुनाव की मतगणना शुरू हो गई। उत्तराखंड में 19 अप्रैल को पहले चरण में 5 सीटों पर मतदान हुआ था। जिसमें अब बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही अपनी अपनी जीत के दावे कर रही हैं।

साल 2014 और 2019 में उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों पर दोनों बार बीजेपी का कब्जा रहा था। जिसमें साल 2014 में बीजेपी का वोट प्रतिशत 61.01 प्रतिशत था, तो वहीं कांग्रेस का साल 2014 का वोट प्रतिशत 31.40 प्रतिशत था।

साल 2019 में बीजेपी का वोट प्रतिशत 61.01 से घटकर 55. 30 प्रतिशत पर आ गया, वहीं 2019 में कांग्रेस का वोट प्रतिशत 31.40 से बढ़ कर 34 प्रतिशत पर आ गया।

अब साल 2024 में बीजेपी अपनी जीत को लेकर आश्वस्त नजर आ रही है, वहीं कांग्रेस भी अपनी जीत का दम भर रही है।

उत्तराखंड की 5 लोकसभा सीटों पर इस बार लोकसभा चुनावों में 83,21,207 मतदाताओं ने पांचों सीटों पर मतदान किया था। जिसमें प्रदेश की लगभग 40 लाख महिला और 43 लाख पुरूष मतदाता थे।।

प्रदेश के युवा मतदातओं की संख्या 1,45,220 थी। इसके अलावा दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 79,965 थी। इसमें 30,170 महिला मतदाता और 49,792 पुरुष मतदाता थे। 85 वर्ष से अधिक के मतदाताओं की कुल संख्या 65,177 थी, जिसमें महिलाओं की संख्या 38,713 और पुरूष मतदाताओं की संख्या 26,462 थी।

उत्तराखंड की 5 लोकसभा सीटों पर इस बार 55 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जिसमें टिहरी सीट से 11, पौड़ी गढ़वाल सीट से 13, अल्मोड़ा में 7, नैनीताल में 10 और हरिद्वार में 14 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

देहरादून के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में मतगणना की जा रही है, जिसमें टिहरी लोकसभा सीट की 7 विधानसभा सीट राजपुर, चकराता, विकासनगर, कैंट, रायपुर, सहसपुर और मसूरी की मतगणना की जा रही है। इसके साथ ही हरिद्वार लोकसभा सीट की तीन विधानसभा सीट धर्मपुर, डोईवाला और ऋषिकेश की भी मतगणना यहीं हो रही है।

2024 में प्रदेश की पांचों लोकसभा सीटों पर 2 सीटें ऐसी हैं, जहां कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है। उत्तराखंड की पांच लोकसभा सीटों में 2 मैदानी क्षेत्र की हैं तो बाकी 3 सीटें पहाड़ी इलाकों की है।

प्रदेश की पांच लोकसभा सीट हरिद्वार, टिहरी, अल्मोड़ा, पौड़ी गढ़वाल और नैनीताल उधमसिंह नगर है, जिसमें हरिद्वार लोकसभा सीट से बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत चुनाव मैदान में हैं, तो कांग्रेस से उनके सामने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के बड़े बेटे वीरेंद्र रावत हैं। इन दोनों पार्टियों का चुनावी खेल बिगाड़ने के लिए निर्दलीय उम्मीदवार खानपुर विधायक उमेश कुमार यहां से चुनाव मैदान में हैं।

अल्मोड़ा संसदीय सीट से बीजेपी के अजय टम्टा मैदान में हैं तो कांग्रेस से प्रदीप टम्टा हैं। पौड़ी गढ़वाल सीट से बीजेपी के अनिल बलूनी चुनाव मैदान में हैं, वहीं कांग्रेस से गणेश गोदियाल मैदान में हैं।