पीएम मोदी के साधना का आधार 25 साल के भावी भारत का नव निर्माण : आचार्य प्रमोद कृष्णम

0
6

नई दिल्ली, 3 जून (आईएएनएस)। पीएम नरेंद्र मोदी ने ध्यान-साधना से लौटकर एक आर्टिकल लिखा। इस आर्टिकल में उन्होंने अगले 25 वर्षों का लक्ष्य लेकर चलने और नए भारत की नींव तैयार करने के साथ ही विकसित भारत बनाने की बात कही है।

कांग्रेस के पूर्व नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी दूरदर्शी व्यक्ति है। वो अगले 25 साल की योजना इसलिए बना रहे है कि भारत की आजादी का 100वां साल आने वाला है। जब एक शताब्दी पूरी होगी, तो भारत कैसा होगा?

उन्होंने कहा कि पूरा विपक्ष इस जोड़तोड़ में लगा हुआ है कि कैसे सत्ता का सिंहासन मिल जाए। वहीं पीएम मोदी यह चिंतन कर रहे है कि अगले 25 सालों में भारत कैसा होगा। यहीं मोदी और विपक्ष की सोच में बुनियादी फर्क है।

प्रधानमंत्री अपने साधना और तप के बल पर एक नया आयाम देने की कोशिश करते है। वो राष्ट्रहित में है। उन्होंने रिफार्म की बात की है, जब देश काल परिस्थितियां परिवर्तित होती हैंं, तो सबकुछ बदलता है, इसलिए समाज और देश में रिफार्म होना जरूरी है।

वहीं पीएम मोदी ने परफॉर्म की बात की है, प्रधानमंत्री का यह विजन भारत को और सशक्त करेगा और भारत के गौरव को बढ़ाएगा। प्रधानमंत्री जी समग्र विकास की बात कहते है। भारत के सर्वांगीण विकास के लिए उन्होंने जो नारा दिया है, उससे भारत विश्वगुरू बनेगा। भारत में विपक्षी दल पाकिस्तान और चीन के समर्थन में बोलते हैं। चीन विपक्ष और सरकार विरोधियों के साथ है।