25 लोगों की जान बचाने वाले आरक्षी नरेश जोशी को ‘जीवन रक्षा पदक’ सम्मान

0
20

देहरादून, 30 जनवरी (आईएएनएस)। उत्तराखंड पुलिस के एक जवान नरेश जोशी ने पूरे प्रदेश का मान बढ़ा दिया है। जोशी ने अपनी जान की परवाह किए बिना अदम्य साहस का परिचय देते हुए 25 जिंदगियों को बचाया था। नरेश जोशी के इस साहस और वीरता को देखते हुए महामहिम राष्ट्रपति द्वारा उन्हें “जीवन रक्षा पदक” प्रदान किये जाने की घोषणा की गयी है।

अभिनव कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड ने इस उपलब्धि के लिए नरेश जोशी को बधाई दी है।

30 अगस्त, 2022 की सुबह पांच बजे जनपद ऊधमसिंहनगर के आजाद नगर, ट्रांजिट कैम्प में कबाड़ गोदाम में सिलेंडर से विषैली गैस अमोनिया का रिसाव हो गया था। रिसाव से कई लोगों के बेहोश होने की सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंचे पुलिस बल ने देखा कि कबाड़ के गोदाम में एक गैस सलेण्डर से विषैली गैस का रिसाव हो रहा है।

इससे आस-पास के कई लोगों की आँखों में जलन तथा सांस लेने में काफी परेशानी हो रही थी। लोगों को विषैली गैस रिसाव से दम घुटकर मौत होने की संभावना भी बन चुकी थी।

मौके पर मौजूद आरक्षी नरेश जोशी के जब ये देखा तो उन्होंने अपनी जान की परवाह किए बिना उस गैस सिलेंडर को वहां से उठाया और ई रिक्शा में रखकर उसे आबादी वाले क्षेत्र से निकालकर दूर सुनसान जगह पर ले जाकर छोड़ दिया।

आरक्षी नरेश जोशी ने ऐसा कर के 25 जिंदगियों को बचाया बिना अपनी जान की परवाह करते हुए।

उनके इसी साहस को सलाम करते हुए उन्हें राष्ट्रपति द्वारा जीवन रक्षा पदक श्रंखला पुरस्कार- 2023 के अन्तर्गत “जीवन रक्षा पदक” प्रदान किये जाने की घोषणा की गयी है।