बिहार में चुनावी सभाओं के मामले में तेजस्वी आगे निकले, 251 रैलियां कर महागठबंधन के लिए मांगे वोट

0
11

पटना, 31 मई (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव 2024 के लिए प्रचार थम गया है। चुनाव की तपिश और उस पर बढ़ते तापमान के बीच सभी दलों के नेताओं ने चुनाव प्रचार में जमकर पसीना बहाया और जनता को रिझाया।

इस क्रम में राजद के नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव चुनावी रैलियों के मामले में आगे रहे। तेजस्वी यादव ने इस चुनाव में कुल 251 सभाएं कीं और महागठबंधन प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे।

राजद अध्यक्ष लालू यादव के पुत्र तेजस्वी यादव इस दौरान कमर दर्द से परेशान भी रहे और इन्हें व्हील चेयर का सहारा लेना पड़ा, लेकिन उन्होंने चुनावी प्रचार से खुद को अलग नहीं किया।

पिछले 54 दिनों में तेजस्वी ने 251 चुनावी सभाएं कीं। इनकी अधिकांश सभाओं में विकासशील इंसान पार्टी के संस्थापक मुकेश सहनी भी साथ रहे। इस बीच वे करीब सभी लोकसभा क्षेत्रों में पहुंचे और महागठबंधन में शामिल दलों के प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे।

तेजस्वी यादव ने तीन अप्रैल से दो मई तक 92 चुनावी सभाएं कर राजद और सहयोगी पार्टियों के लिए प्रचार किया। इसके बाद उन्हें कमर में दर्द शुरू हो गया। कमर दर्द के दौरान 28 दिनों में इन्होंने 159 चुनावी सभाएं कीं। इस क्रम में उनकी अधिकांश यात्राएं हेलीकॉप्टर से हुईं।

वे झारखंड में भी चुनाव प्रचार करने पहुंचे।

उल्लेखनीय है कि आम चुनाव की घोषणा से पहले फरवरी माह में तेजस्वी यादव ने जन विश्वास यात्रा के दौरान 12 दिनों में सभी 38 जिलों की यात्रा कर सड़क मार्ग से 3500 किलोमीटर की दूरी तय की थी और 19 बड़ी रैलियों के साथ 80 मेगा रोड शो किए थे।

बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान में 3 मार्च को जन विश्वास महारैली के साथ जन विश्वास यात्रा का समापन हुआ, जिसमें इंडिया गठबंधन के शीर्ष नेताओं में भाग लिया था।

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण का चुनाव 19 अप्रैल को हुआ था जबकि अंतिम और सातवें चरण का मतदान 1 जून को होने वाला है। नतीजे 4 जून को घोषित किए जाएंगे।