अखिलेश का भाजपा पर वार, बोले – 400 पार का नारा देने पूर्वांचल के चुनाव में नारा भूले

0
11

गाजीपुर/चंदौली, 27 मई (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जो लोग 4 सौ पार का नारा दे रहे थे, जब से पूर्वांचल में चुनाव आया है वो ये नारा भूल गए हैं।

अखिलेश यादव सोमावार को गाजीपुर और चंदौली दौरे पर थे। इस दौरान चुनावी जनसभाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “पूर्वांचल ने जो उम्मीद दी है छठे चरण में, मैं कह सकता हूं कि ये जो भाषण बदल रहे हैं, व्यवहार बदल रहे हैं, जनता वोट की चोट देकर इन्हें 7 समंदर पार फेंक देगी।

सपा मुखिया ने कहा, “भारतीय जनता पार्टी के लोग संविधान को बदलना चाहते हैं, ये संविधान वो है जो हमें न्याय दिलाता है, ये हमें अधिकार दिलाता है। जब ये संविधान बदलेंगे तो हम इन्हें बदल देंगे।”

उन्होंने कहा, “जब आपका वोट पड़ेगा, तो ना केवल पार्टी जीतेगी, बल्कि आपको रोजगार मिलेगा, फौज की नौकरी पक्की होगी और नौकरियों की संख्या भी बढ़ेगी, पुरानी पेंशन भी बहाल होगी।”

अखिलेश ने कहा, “जो लोग हार रहे हैं, उनका व्यवहार भी बदल रहा है। यहां तक कि प्रधानमंत्री का आत्मविश्‍वास भी उत्तर प्रदेश आते-आते लड़खड़ा गया है और उनकी बातें भी लड़खड़ाने लगी हैं।”

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने काम नहीं किया, अगर काम किया होता तो उनके साथ जनता दिखाई देती, क्योंकि 10 साल दिल्ली के और 7 साल यूपी के उन्होंने बर्बाद किए हैं।”

सपा मुखिया ने कहा कि अगर इलेक्टोरल बॉन्‍ड की बात करो तो भाजपा वाले दहशत में आ जाते हैं, उन्हें चक्कर आ जाते हैं, कयोंकि इलेक्टोरल बॉन्‍ड ने इनके भ्रष्टाचार की पोल खोली है।”

उन्होंने कहा कि ये लोग जो बहुत बहादुर बनते हैं, अपने भाषणों में पड़ोसी देश का बहुत नाम लेते हैं, उनसे पूछिए कि जब चीन से रेजांगला जैसी लड़ाई हुई थी या नहीं, रेजांगला मेमोरियल तोड़ दिया गया था या नहीं।”

अखिलेश ने कहा, “यह चुनाव हमारे आपके भविष्य का चुनाव है। हमें, आपको, सबको वैक्सीन लगवा दी, वैक्सीन लगने के बाद बीमारी बढ़ रही है, दिल की बीमारी भी बढ़ गई है।”

उन्होंने कहा कि आने वाले समय में समाजवादी सरकार और इंडिया गठबंधन के लोग आने वाले हैं, हम अपने गरीबों का राशन बढ़ाएंगे, साथ ही उन्हें पैकेट के आटा के साथ साथ डाटा भी देंगे। अभी तो अग्निपथ स्‍कीम में फौज की नौकरी 4 साल की हो गई है, अगर भाजपा वाले फिर से आ गए तो खाकी वर्दी वालों की नौकरी भी 3 साल की कर देगें।

अखिलेश ने कहा कि पिछले 10 साल के इनके फैसलों ने संविधान को ठेस पहुंचाई है, समय-समय पर संस्थाओं को बेचकर हमारे आरक्षण को खत्म करने का प्रयास किया गया है, इसलिए हमें सावधान हो जाना चाहिए।