छपरा की जनता ने मुझे 5 साल सेवा करने का फिर से दिया मौका : राजीव प्रताप रूडी

0
9

नई दिल्ली, 5 जून (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजे आ चुके हैं। रिजल्ट में एनडीए को पूर्ण बहुमत मिल चुका है। बिहार में एनडीए के खाते में 30 सीटें आई हैं। लेकिन, सबसे ज्यादा राज्य की सारण लोकसभा सीट सुर्खियों में रही।

दरअसल, इस सीट से आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य के सामने भाजपा प्रत्याशी राजीव प्रताप रूडी चुनावी मैदान में थे। लेकिन, इस सीट पर रोहिणी आचार्य को हार का सामना करना पड़ा।

राजीव प्रताप रूडी ने लालू परिवार को शिकस्त देते हुए छपरा से जीत की हैट्रिक लगाई है।

एनडीए की बैठक में शामिल होने के लिए राजीव प्रताप रूडी बुधवार को राजधानी दिल्ली के लिए रवाना हुए। उससे पहले मीडिया से बातचीत के दौरान रूडी ने कहा कि छपरा का परिणाम अपने आप में एक महत्वपूर्ण परिणाम है। मैं सारण की जनता का आभार व्यक्त करना चाहूंगा। विशेष रूप से बिहार की जनता का और एनडीए के कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करता हूं, जिन्होंने मिल-जुलकर इस अभियान को सफल बनाया और मुझे छपरा को 5 साल सेवा करने का फिर से मौका दिया।

उन्होंने कहा कि कल तक मैं छपरा का प्रत्याशी था, अब मैं छपरा का सांसद हूं। जिसने मुझे मत दिया मैं उसका सांसद तो हूं, जिन्होंने मत नहीं दिया, उसका भी सांसद हूं। मैं यही अपील करूंगा कि छपरा में शांति बनी रहे और लोकतंत्र की गरिमा बनी रहे। मैं छपरा की जीत के लिए बिहार की जनता को, अपने परिवार, भाजपा और एनडीए के कार्यकर्ताओं को आभार व्यक्त करता हूं।

वहीं एनडीए के 400 के टारगेट को पूरा नहीं करने पर राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि सरकार तो हमारी ही बनेगी, यह बात ज्यादा महत्वपूर्ण है। बहुमत एनडीए को मिला है और सरकार बनेगी। इस व्यवस्था में सबका स्वागत है।

बता दें कि सारण में भाजपा उम्मीदवार राजीव प्रताप रूडी को 4,71,752 वोट मिले। वहीं, लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्य दूसरे स्थान पर रहीं। आरजेडी की प्रत्याशी रोहिणी आचार्य को 4,58,091 वोट प्राप्त हुए।

बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से जेडीयू के खाते में 12, भाजपा को 12, चिराग पासवान की पार्टी लोजपा (रामविलास) 5, आरजेडी 4, कांग्रेस 3, सीपीआई माले 2 और अन्य को एक सीट मिली है।