बिहार : पुनौरा धाम मंदिर के पास पर्यटकीय सुविधाओं के विकास के लिए भूमि अधिग्रहण का काम शुरू

0
9

सीतामढ़ी (बिहार), 22 जून (आईएएनएस)। मां जानकी की जन्मस्थली सीतामढ़ी जिला के पुनौरा धाम मंदिर के आस-पास बेहतर पर्यटकीय सुविधाओं के विकास एवं आधारभूत संरचना के निर्माण के लिए 50 एकड़ भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

मार्च में राज्य कैबिनेट से भूमि अधिग्रहण की सैद्धान्तिक मंजूरी मिलने के बाद पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन ने भूमि अधिग्रहण के लिए कार्य शुरू कर दिया है।

शनिवार को पर्यटन विभाग की टीम ने सीतामढ़ी के जिला पदाधिकारी रिची पांडेय के साथ स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने मंदिर के करीब 50 एकड़ भूमि को अधिग्रहण के लिए चिह्नित करते हुए जिला भू-अर्जन पदाधिकारी को इस दिशा में कार्रवाई शुरू करने के आदेश दिए।

पुनौरा धाम के विस्तार के लिए स्थल जांच के क्रम में बिहार पर्यटन विकास निगम के महाप्रबंधक अभिजीत कुमार, जिला भू-अर्जन अधिकारी विनोद प्रसाद सिंह समेत कई अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

वर्तमान में रामायण परिपथ के अंतर्गत अयोध्या आने वाले श्रद्धालु और पर्यटक निश्चित रूप से जानकी की जन्म भूमि के दर्शन के लिए पुनौरा धाम पहुंचते हैं।

अयोध्या से पुनौरा धाम जोड़ने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग भी बनाया जा रहा है। पर्यटन विभाग के अधिकारी बताते हैं कि सुविधा बेहतर होने के कारण पुनौरा धाम में श्रद्धालु और पर्यटक अधिक संख्या में आएंगे। सुविधा के लिए कई पर्यटकीय आधारभूत संरचनाओं का निर्माण कराया जाना है।

पर्यटन विभाग द्वारा पुनौरा धाम मंदिर के विकास के लिए 72.47 करोड़ रुपए की योजना को मंजूरी दी गई है। इस योजना के तहत परिक्रमा पथ, सीता वाटिका, लव-कुश वाटिका, जानकी महोत्सव क्षेत्र का विकास, सुंदर वास्तुशिल्प से सुसज्जित दीवारें, पार्किंग और अन्य पर्यटकीय सुविधाओं का विकास वर्तमान में किया जा रहा है।

इससे पर्यटकों की संख्या में वृद्धि होगी और सरकार को राजस्व मिलेगा। साथ ही आस-पास के क्षेत्रों में स्थानीय लोगों के लिए रोजगार और व्यापार की संभावनाएं भी सृजित होगी।